भाजपा विधायक अजय विश्नोई के सवालों से घिर गई भाजपा सरकार, नेता सोशल मीडिया पर निकाल रहे भड़ास

भाजपा विधायक अजय विश्नोई के सवालों से घिर गई भाजपा सरकार, नेता सोशल मीडिया पर निकाल रहे भड़ास

 

By: Lalit kostha

Published: 15 Apr 2021, 12:54 PM IST

जबलपुर। जिले में कोरोना की स्थिति विस्फोटक होने के बाद अब अव्यवस्थाओं पर आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति शुरू हो गई है। हालात बिगडऩे के बाद जिम्मेदार जनप्रतिनधियों को भी जवाब देते नहीं बन रहा है। इसलिए वे सोशल मीडिया में अफसरों पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। जनप्रतिनिधियों का आरोप है कि कोरोना मरीजों के इलाज के लिए सरकारी अस्पतालों में व्याप्त अव्यवस्थाओं के कारण वे जनता की समस्यायों का समाधान नहीं कर पा रहे हैं। निजी अस्पतालों की मनमानी पर भी प्रशासन अंकुश नहीं लगा पा रहा है। कोरोना की स्थिति नियंत्रित होने के बाद जनप्रतिनिधियों ने भी पिछली गलतियों से सीख नहीं ली न ही आगामी समय में आने वाले संकट से निपटने की तैयारी की। पार्टी सूत्रों के अनुसार लगातार बिगड़ते हालात पर जनप्रतिनिधियों की फजीहत हो रही है। जनप्रतिनिधियों की सिफारिश पर सरकारी अस्पतालों में भर्ती होने वले मरीजों की देखभाल नहीं हो रही है। मरीज निजी अस्पतालों जा रहे हैं।

जिले में हर दिन कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। लगातार दूसरे दिन 600 से अधिक नए कोरोना संक्रमित सामने आए। पूर्व मंत्री व विधायक अजय विश्नोई भी प्रशासन पर हमलावर हैं। इससे पहले आपदा प्रबंधन की बैठक में उन्होंने सीएम से चर्चा में प्रशासन पर आंकड़े छिपाने का आरोप लगाया था। बुधवार को भी उन्होंने ट्वीट कर ऑक्सीजन की कमी पर सवाल उठाए। भाजपा नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर ने भी रेमेडेसिविर की कालाबाजारी पर ड्रग इंस्पेक्टर को हटाने की मांग की थी। ड्रग इंस्पेक्टर से रेमेडेसिविर के आवंटन के अधिकार छीन लिए गए।



MP CM Shivraj Singh Chauhan

विश्नोई का सीएम को पत्र : एयर प्रोडक्ट ऑक्सीजन प्लांट का शीघ्र लाइसेंस दिलाएं
विधायक अजय विश्नोई ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है। पत्र में विश्नोई ने कहा कि कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के कारण जबलपुर समेत समूचे महाकौशल में ऑक्सीजन की कमी बनी हुई है। जबलपुर के प्लांट पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं दे पा रहे। जबलपुर के एक निजी संस्था ने स्वयं का एयर प्रोडक्ट प्लांट तैयार किया है। ये प्लांट प्रतिदिन दो हजार सिलेंडर ऑक्सीजन भर सकता है। इस प्लांट को शीघ्र चालू कराने के लिए आगरा के अधिकारी से लाइसेंस दिलाएं। पत्र में उन्होंने इंदौर के नितिन जैन से 2000 एमटी का टैंकर दिलाने की भी मांग की है। एक अन्य पत्र में विश्नोई ने आइसीएमआर में रोजाना 1500 टेस्ट कराने की मांग की है।

Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned