बीजेपी विधायक संजय पाठक पर मध्यप्रदेश में बड़ी कार्रवाई, अरबों की संपत्ति के हैं मालिक

बीजेपी के सबसे अमीर विधायक के खदानों पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कार्रवाई

By: Pawan Tiwari

Updated: 08 Jun 2019, 08:38 PM IST

जबलपुर. मध्यप्रदेश के जबलपुर में बीजेपी विधायक संजय पाठक पर सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। संजय पाठक शिवराज सिंह चौहान के सरकार में मंत्री रहे हैं। अब संजय पाठक की खनन कंपनी पर सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। जबलपुर स्थित मेसर्स निर्मला मिनरल्स को सील कर दिया गया है।

 

जबलपुर कलेक्टर ने इसके संबंध में आदेश जारी कर दिया है। इस फर्म की जांच के लिए अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) सिहोरा, अनुविभागीय अधिकारी (वन) सिहोरा, प्रभारी अधिकारी (खनिज शाखा) जबलपुर, तहसीलदार सिहोरा, नयाब तहसीलदार मझगवां और राजस्व निरीक्षक मझगवां एवं संबंधइत हल्का पटवारी को शमिल किया गया है। उनकी कंपनी पर अवैध खनन के आरोप हैं।

sanjay pathak

 

कलेक्टर के द्वारा जारी पत्र में लिखा गया है कि माननीय सर्वोच्चय न्यायालय के पारित आदेश के परिप्रेक्ष्य में मेसर्स निर्मला मिनरल्स को सील कर तत्काल आवश्यक जांच के लिए टीम गठित की गई है। जबलपुर के सिहोरा में चल रही ग्राम दुबियारा की आयरन खनिज पट्टा को तत्काल बंद करवा दिया गया है। विधायक संजय पाठक की कंपनी पर वनभूमि के जमीनों पर अवैध खनन करने का आरोप लगा है।

 

दरअसल, सिहोर से विधायक संजय पाठक मध्यप्रदेश में खनन का काम करते हैं। उनके ऊपर अवैध खनन के आरोप लगते रहे हैं। वे शिवराज सिंह के शासन काल में राज्य मंत्री थे। संजय पाठक विजयराघवगढ़ से विधायक हैं। बीच-बीच में पार्टी से उनकी नाराजगी भी सामने आती रही है।

sanjay pathak

 

कांग्रेस में जाने की भी थी चर्चा
लोकसभा चुनावों के दौरान संजय पाठक को लेकर कई तरह की बातें सामने आईं थी। यह कयास लगाया जा रहा था कि वे पाला बदलकर कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। क्योंकि पूर्व में कांग्रेस छोड़कर ही बीजेपी में शामिल हुए थे।

इसे भी पढ़ें: कालेधन पर सख्त हैं पीएम मोदी, जाएगी मध्यप्रदेश के इस मंत्री की कुर्सी!

sanjay pathak

 

अकूत संपत्ति के हैं मालिक
संजय पाठक के पास अकूत संपत्ति भी है। वह मध्यप्रदेश से बीजेपी के सबसे अमीर विधायक हैं। उनके पास करीब दो सौ पच्चीस करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति है। चुनावों के दौरान उनकी संपत्ति की चर्चा भी खूब हुई थी। क्योंकि 2013 में उनकी संपत्ति 121.32 करोड़ रुपये की थी। वहीं 2018 में 222.54 करोड़ रुपये की हो गई। यानी पांच साल में संजय पाठक की संपत्ति 104.2 करोड़ रुपये बढ़ी।

BJP
Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned