नहीं चलेगी डॉक्टर्स की मनमानी, अब तीन बजे तक रुकना पड़ेगा

जबलपुर के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में डॉक्टर और कर्मचारियों के कामकाज का समय बदला, ओपीडी में मरीज होने पर समय समाप्त होने के बाद भी देखना होगा

 

By: shyam bihari

Published: 24 Nov 2020, 08:37 PM IST

 

जबलपुर। डॉक्टर्स की मनमानी अब जबलपुर शहर में नहीं चलेगी। यहां के नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर्स को अब एक घंटे देर तक अस्पताल में रहना होगा। आमतौर पर अस्पताल से डेढ़ बजे से ही भागने वाले डॉक्टरों की ड्यूटी अब दोपहर 3 बजे तक रहेगी। चिकित्सा शिक्षा विभाग की ओर से सोमवार को जारी किए गए आदेश में मेडिकल कॉलेज और संबद्ध अस्पताल में डॉक्टर एवं कर्मचारियों के कामकाज के समय में परिवर्तन किया गया है। इसमें सोमवार से शनिवार तक ओपीडी सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक खोलने के निर्देश दिए गए है। डॉक्टरों को साफतौर पर कहा गया है कि मरीज ज्यादा होने पर उन्हें ओपीडी में अंतिम मरीज देखें जाने तक रहना होगा।
ये होगा कामकाज का नया समय
संस्थान : श्रेणी : कार्यालय समय
कॉलेज : प्री व पैरा क्लीनिकल : सुबह 8 बजे से शाम 4 बजे।
अस्पताल : क्लिनिकल स्टाफ : सुबह 8 से दोपहर 3 बजे।
ओपीडी : डॉक्टर : सुबह 8 से दोपहर 2 बजे।
नोट: रविवार और अन्य अवकाश अवकाश में ओपीडी और राउंड का समय सुबह 9 से 11 बजे तक।
शाम का राउंड एक घंटे का होगा
चिकित्सा शिक्षा विभाग में उपसचिव सोमेश मिश्र की ओर से सोमवार को जारी किए आदेश में डॉक्टरों के शाम के राउंड का समय एक घंटा घटा दिया गया है। अभी तक डॉक्टर शाम को 5 से 7 बजे के बीच राउंड लेते थे। नए आदेश में कसंल्टेंट के शाम के राउंड का समय शाम 6-7 बजे तय किया गया है। कॉलेज के कर्मचारियों को दोपहर 1 से 2 बजे के बीच भोजनावकाश दिया है। वर्तमान में लागू व्यवस्था में ज्यादातर डॉक्टर दोपहर 1.30 बजे लंच ब्रेक में ओपीडी से चले जाते हैं। नए आदेश में ओपीडी का समय तो 2 बजे तक किया है लेकिन क्लीनिकल स्टाफ को 3 बजे तक रुकने का निर्देश है।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned