फिरौती लेने के बाद भी मासूम की हत्या करने वाले किडनैपर्स और बच्चे के पिता की बातचीत का ऑडियो आया सामने

जबलपुर में ब्लास्टिंग कारोबारी के 12 साल के बेटे की किडनैपिंग और फिर फिरौती मिलने के बाद भी हत्या किए जाने के मामले में बड़ा खुलासा, कारोबारी पिता और किडनैपर्स की बातचीत का ऑडियो आया सामने...

By: Shailendra Sharma

Published: 18 Oct 2020, 07:43 PM IST

जबलपुर. जबलपुर के धनवंतरी नगर में रहने वाले ब्लास्टिंग कारोबारी मुकेश लांबा के 12 साल के बेटे आदित्य लांबा की किडनैपर्स ने फिरौती लेने के बाद हत्या कर दी। मासूम आदित्य का शव रविवार की सुबह पुलिस को पनागर के बिछुआ गांव स्थित नहर में मिला है। किडनैपर्स ने फिरौती के तौर पर 2 करोड़ रुपए की डिमांड की थी और बताया जा रहा है कि आरोपियों ने आदित्य के पिता मुकेश लांबा से फिरौती के 10 लाख रुपए भी ले लिए थे, फिर भी बच्चे की हत्या कर उसकी लाश को नहर में फेंक दिया। इस सनसनीखेज हत्याकांड में पत्रिका को किडनैपर और बच्चे के पिता मुकेश लांबा के बीच हुई बातचीत की ऑडियो क्लिप मिली है जिसमें दोनों के बीच फिरौती को लेकर बातचीत दर्ज है।

किडनैपर्स और बच्चे के पिता के बीच हुई बातचीत का ऑडियो-

 

पुलिस ने किया खुलासा
पत्रिका के पास आए ऑडियो क्लिप के कुछ ही देर बाद जबलपुर पुलिस ने किडनैपिंग और हत्या के इस सनसनीखेज मामले का खुलासा भी कर दिया। पुलिस ने मासूम आदित्य की हत्या करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने रविवार को अफसोस व्यक्त करते हुए बच्चे की हत्या का खुलासा किया। एसपी ने बताया कि 200 पुलिसकर्मियों की टीम बच्चे की तलाश में लगाई गई थी लेकिन हम उसे सकुशल नहीं बचा पाए। एसपी बहुगुणा ने बताया कि बच्चा आदित्य गुरुवार की शाम घर से पास ही दुकान से सामान लेने के लिए निकला था तभी रास्ते में महाराजपुर आधारताल निवासी राहुल उर्फ मोनू विश्वकर्मा, मलय राय और करण जग्गी ने पता पूछने के बहाने कार से उसका अपहरण कर लिया। आरोपियों ने बच्चे के पिता से 2 करोड़ रुपए की फिरौती की मांग करते हुए फोन भी किया था। ये फोन एक लूटे गए मोबाइल से किया गया था। जिस मोबाइल फोन से फिरौती के लिए फोन किया गया था वो 13 अक्टूबर को कटंगी के बेलखाड़ में लूटा गया था। आरोपियों ने पूछताछ में ये भी खुलासा किया है कि वो 1 महीने से आदित्य को किडनैप करने की प्लानिंग कर रहे थे और बीते 15 दिनों में कई बार उसे किडनैप करने की कोशिश भी की लेकिन कामयाबी नहीं मिली। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जब उनसे बच्चे के बारे में पूछताछ की तो उन्होंने बच्चे की हत्या की बात कबूल करते हुए शव को नहर में फेंके जाने के बारे में बताया जिसके बाद पुलिस ने रविवार सुबह नहर से बच्चे का शव बरामद किया था।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned