युवाओं के लिए इस विश्वविद्यालय की बड़ी व नेक पहल

-पुरातन छात्रों को वीडियो कांफ्रेंसिंग से जोड़ा वर्तमान छात्रों को बताए गुर

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 04 Dec 2020, 03:00 PM IST

जबलपुर. वर्तमान में हर युवा रोजगार के लिए परेशान नजर आता दिखता है। हर किसी को तलब है एक अच्छी नौकरी की। अच्छे काम की। युवाओं की इस परेशानी को समझा जवाहर लाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय ने। केवल समझा नहीं बल्कि उनके लिए क्या कुछ किया जा सकता है इसका रास्ता भी खोज निकाला।

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.प्रदीप बिसेन ने छात्रों की बेरोजगारी की समस्या दूर करने के लिहाज से नेक पहल की। उन्होंने वेबिनार आयोजित किया। इस वेबिनार से उन लोगों को जोड़ा गया जो पूर्व में विश्वविद्यालय के छात्र रह चुके हैं और वर्तमान में वो देश और विदेश में अपने क्षेत्र में परचम लहरा रहे हैं। पुरातन व नवीन छात्रों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जोड़ा गया। विश्व स्तर पर अनुसंधान केंद्रों में काम कर रहे युवाओं ने विश्वविद्याय के छात्र-छात्राओं से रूबरू होकर उनकी शंकाओं का समाधान किया। विदेशों में रह कर विभिन्न क्षेत्रों में अपना परचम लहराने वालों ने मौजूदा छात्रों को एक से बढ़ कर एक कई गुर बताए। अपने अनुभव साझा किए।

इस दौरान अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ.अमित शर्मा ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय विवि में कृषि विज्ञान के क्षेत्र में उच्च शिक्षा के अनेक अवसर हैं। लेकिन जानकारी और उचित मार्गदर्शन के अभाव में छात्रों को अवसर का लाभ नहीं मिल पाता।

वेबिनार में रेजीना विश्वविद्यालय, अल्बर्टो, कनाडा से डॉ.प्रमोद कुमार ने यूएस और कनाडा में उच्च शिक्षा में प्रवेश के तरीकों एवं तैयारियों के बारे में बताया। एबरहार्ड कार्ल्स विश्वविद्यालय जर्मनी से डॉ.सूजन विमल ने कृषि जैव प्रौद्योगिकी के विषय के बारे में बताते हुए यूरोप के कई संस्थानों में प्रवेश प्रक्रिया की जानकारी दी। इस अवसर पर विश्वविद्यालय की ओर से डॉ.शैलेष शर्मा, डॉ.योगरंजन, डॉ. धर्मेन्द्र सिंह का विशेष सहयोग रहा।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned