कमजोरी, पेट दर्द और उल्टी के लक्षण हैं तब भी हो सकते हैं कोरोना के संदिग्ध

जबलपुर शहर में दूसरी लहर, मरीज बढऩे के साथ खतरनाक हो रहा संक्रमण

 

 

By: shyam bihari

Published: 03 Apr 2021, 07:19 PM IST

 

जबलपुर। कोरोना पहले लोगों को हल्की सर्दी, खांसी और बुखार जैसे लक्षण के साथ अपनी जकड़ में ले रहा था। अब नए मरीजों में अचानक कमजोरी, पेट दर्द और उल्टी जैसे लक्षण भी मिल रहे हैं। इसे सामान्य लक्षण समझकर जांच एवं उपचार में देर से मरीज को गम्भीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। जबलपुर शहर में कोरोना की दूसरी लहर के साथ संक्रमित लगातार बढ़ रहे हैं। संक्रमण के नए रूप सामने आ रहे हैं। अचानक उभरने वाले अलग लक्षणों की प्रारंभिक अनदेखी का मरीज को गम्भीर नुकसान हो सकता है। जांच व उपचार में विलंब से मरीज की हालत बिगड़ रही है। डॉक्टरों के अनुसार कोरोना अभी भी पिछले वर्ष जैसा ही है। लेकिन जनवरी-फरवरी माह में नए मामले कम होने के साथ संक्रमण से बचाव को लेकर लोग बेपरवाह हो गए हैं। संक्रमण को हल्के में ले रहे हैं। कुछ लोग कोरोना वैक्सीन लगाकर निश्चिंत हो गए हैं। ना मास्क लगा रहे है और ना ही अन्य एहतियात बरत रहे हैं। ऐसी लापरवाही की वजह से ही कोरोना फिर से बढ़ रहा है। अब भी आदतों में बदलाव नहीं हो रहा है। मास्क लगाने, बार-बार साबुन से हाथ धोने, सोशल डिस्टेंसिंग जैसे संक्रमण से सुरक्षा के उपाय सही तरीके से नहीं हो रहे हैं। लोगों की जागरुकता और सावधानी से ही संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सकता है।
अस्पताल पहुंचने में देर से दम तोड़ रहे मरीज
कोरोना के नए मामले बढऩे के साथ कुछ दिन से संक्रमित की मौतें भी बढ़ी है। नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज के कोविड आइसोलेशन प्रभारी डॉ. संजय भारती के अनुसार लोग कोरोना की जांच कराने में देर कर रहे है। इससे संक्रमण शरीर में फैल रहा है। गम्भीर स्थिति में मरीज अस्पताल पहुंच रहे हैं। देर से अस्पताल पहुंचने के कारण कॉमर्बिडिटी वाले मरीजों की रिकवरी में परेशानी हो रही हैं। कुछ मरीजों की मौत हो रही है। कम उम्र के लोगों के शरीर में भी संक्रमण के गम्भीर प्रभाव पड़ रहा है। यदि मरीज संदिग्ध लक्षण पर तुरंत जांच कराएं और डॉक्टर से परामर्श करें तो गम्भीर खतरें से बच सकते हैं। डॉ. जितेन्द्र कुमार भार्गव के अनुसार पहले बुखार, सर्दी और खांसी के लक्षण सामान्य थे। अब शारीरिक कमजोरी, पेट दर्द और उल्टी जैसे लक्षण वाले नए कोरोना मरीज मिल रहे हैं। स्वस्थ व्यक्ति को यदि अचानक सेहत को लेकर कोई भी असामान्य परिवर्तन महसूस हो रहा है, तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें। फीवर क्लीनिक में जांच कराएं। असामान्य लक्षणों की अनदेखी और घरेलू उपचार में समय व्यर्थ ना करें।

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned