scriptwheat farming good in madhya pradesh, farmers news | मप्र में अच्छी पैदावार की उम्मीद, 95 प्रतिशत हुई फसलों की बोवनी | Patrika News

मप्र में अच्छी पैदावार की उम्मीद, 95 प्रतिशत हुई फसलों की बोवनी

मप्र में अच्छी पैदावार की उम्मीद, 95 प्रतिशत हुई फसलों की बोवनी

जबलपुर

Published: January 12, 2022 11:34:19 am

जबलपुर। रबी सीजन की फसलों के रकबे में थोड़ी वृद्धि हुई है। इस वर्ष भी दलहनी और तिलहनी फसलों की स्थिति लगभग एक जैसी है। कृषि विभाग ने करीब 2 लाख 68 हजार हेक्टेयर क्षेत्रफल में फसलों की बोवनी का लक्ष्य रखा है। करीब 2 लाख 47 हजार हेक्टेयर रकबा में किसानों ने फसलों की बोवनी कर दी है। जिले में हर वर्ष खेती का रकबा बढ़ता है। हालांकि, यह बहुत ज्यादा नहीं होता। ग्रामीण क्षेत्र की तहसीलों के मुख्यालयों से लगे क्षेत्रों में आबादी पहले की तुलना में ज्यादा बढ़ रही है। फिर भी खेती अभी उतनी कम नहीं हुई है। लाभ होने के कारण किसान अपनी अनुपयोगी भूमि को भी तकनीकों की सहायता से उपजाऊ बना रहे हैं।

Wheat Crop
wheat farming good

गेहूं का क्षेत्रफल सबसे ज्यादा, थोड़ा बढ़ा रबी का रकबा

गेहूं का बढ़ा, मसूर में कमी
गेहूं की पैदावार हर वर्ष बढ़ रही है। समर्थन मूल्य एवं बाजार में अच्छा दाम मिलने के कारण भी इसका क्षेत्रफल लगातार बढ़ा है। जिले में पिछले साल गेहूं का रकबा तकरीबन एक लाख 84 हजार हेक्टेयर था। यह बढकऱ एक लाख 87 हजार हेक्टेयर हो गया है। दलहनी फसलों में चना भी 37 हजार हेक्टेयर की जगह 40 हजार हेक्टेयर पर पहुंच रहा है। मसूर के रकबे में कमी आई है। कृषि में इसका रकबा लगातार घट रहा है। गत वर्ष इसका रकबा 4 से 5 हजार हेक्टेयर के बीच रह गया है। पहले 10 से 15 हजार हेक्टेयर में इसकी खेती होती थी।

सरसों को लेकर रुझान नहीं
सरसों के लिए वातावरण उचित होने के बाद भी इसकी पैदावार उतनी मात्रा में नहीं होती। जिले में इसका रकबा महज तीन से चार हजार हेक्टेयर के बीच रहता है। ज्यादातर किसान इसकी मिश्रित खेती करते हैं। यानि किसी दूसरी फसल के साथ इसे लगा दिया जाता है। इस बीच गन्ना भी अब ज्यादा किसान लगा रहे हैं। पिछले साल रबी सीजन में इसका रकबा लगभग डेढ़ हजार हेक्टेयर था, जो बढकऱ दो हजार हेक्टेयर के लगभग पहुंचा है।

जिले में रबी के सीजन में फसलों का रकबा थोड़ा बढ़ा है। अनाज का क्षेत्रफल ज्यादा रहता है। उसी प्रकार दलहनी और तिलहनी फसलों को भी किसान पहले की तुलना में ज्यादा लगा रहे हैं।
- डॉ. एसके निगम, उप संचालक कृषि विभाग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.