पुराने इलाकों में नक्सली फिर से अपनी पैठ न बना सके इसलिए पुलिस ने तेज किए ऑपरेशन

नक्सलियों (Naxalites) ने अपने प्रभाव वाले इलाकों में 28 जुलाई से 3 अगस्त तक शहीदी सप्ताह (Naxal Shaheedi Saptah) मनाने का ऐलान किया है। इसीलिए बस्तर पुलिस (Bastar Police) भी अलर्ट मोड पर है।

By: Ashish Gupta

Updated: 26 Jul 2020, 11:36 PM IST

जगदलपुर. नक्सलियों (Naxalites) ने अपने प्रभाव वाले इलाकों में 28 जुलाई से 3 अगस्त तक शहीदी सप्ताह (Naxal Shaheedi Saptah) मनाने का ऐलान किया है। इसीलिए बस्तर पुलिस (Bastar Police) भी अलर्ट मोड पर है।

पुलिस को शक है कि वे ऐसे इलाके जहां पुलिस की पहुंच नहीं है, वहां वे फिर से अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर सकते हैं। इसलिए आईजी ने सभी थानों और चौकियों को अलर्ट कर दिया है। सभी जगहों पर लगातार ऑपरेशन चलाने की बात कही है, जिससे कि उनके उखड़े हुए पांव फिर से इलाके में जम न सके।

आईजी पी सुंदरराज ने कहा कि जवान तैयार है, नक्सलियों के मंसूबे कामयाब नहीं होंगे। हालांकि, नक्सलियों ने हत्या और रेल में बैनर पोस्टर बांधकर अपनी मौजूदगी दिखा दी है।

इसलिए मनाते हैं शहीदी सप्ताह
विभिन्न मुठभेड़ अथवा अन्य कारणों से मारे गए अपने नक्सली साथियों की याद में हर साल शहीदी सप्ताह का आयोजन करते हैं। इस दौरान अपने साथियों को श्रद्धांजलि देकर उनकी याद में शहीद स्मारक का निर्माण भी करते हैं।

कोरोना और नक्सलियों से एक साथ लड़ेंगे जवान
बस्तर में नक्सलियों से लड़ने के लिए बड़ी संख्या में पैरा मिलिट्री के जवान तैनात किए गए हैं। इनमें से कई जवान कोरोना से संक्रमित भी हो गए हैं। बस्तर के अलग-अलग इलाके में इस तरह के मामले सामने आए हैं। ऐसे में अब जवानों को एक तरफ कोरोना तो दूसरी तरफ नक्सलियों से भी जूझना पड़ रहा है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned