script Bhajanlal Cabinet : गजेंद्र सिंह खींवसर बने कैबिनेट मंत्री, कनाडा से ली है डिग्री, 2003 में पहली बार बने थे विधायक | Bhajanlal Cabinet Expansion: Lohawat MLA Gajendra Singh Khinvsar becomes cabinet minister | Patrika News

Bhajanlal Cabinet : गजेंद्र सिंह खींवसर बने कैबिनेट मंत्री, कनाडा से ली है डिग्री, 2003 में पहली बार बने थे विधायक

locationजयपुरPublished: Dec 30, 2023 05:14:19 pm

Submitted by:

Rakesh Mishra

Bhajanlal Cabinet : राजस्थान में आखिरकार भजनलाल सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार हो गया है। राज्यपाल कलराज मिश्र ने शनिवार दोपहर राजभवन में 22 मंत्रियों को शपथ दिलाई। इनमें 12 कैबिनेट और 5 राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार), 5 राज्य मंत्री हैं। भजनलाल मंत्रिमंडल में गजेंद्र सिंह खींवसर को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है।

gajendra_singh_khinvsar.jpg
Bhajanlal Cabinet : राजस्थान में आखिरकार भजनलाल सरकार के मंत्रिमंडल का विस्तार हो गया है। राज्यपाल कलराज मिश्र ने शनिवार दोपहर राजभवन में 22 मंत्रियों को शपथ दिलाई। इनमें 12 कैबिनेट और 5 राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार), 5 राज्य मंत्री हैं। भजनलाल मंत्रिमंडल में गजेंद्र सिंह खींवसर को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। वे पिछली वसुंधरा राजे सरकार में भी कैबिनेट मंत्री थे। खींवसर की छवि पार्टी के राजपूत चेहरे के तौर पर रही है। मंत्री रहने के कारण प्रशासनिक अनुभव है।
गजेंद्र सिंह खींवसर- कैबिनेट मंत्री
- शिक्षा- कनाडा के वेस्टर्न ओंटारियो यूनिवर्सिटी से बीबीए की डिग्री
- पिता का नाम- ओंकार सिंह
- जन्मतिथि - 25/12/1957
- व्यवसाय- व्यापार
कोई आपराधिक मामला नहीं
- परिजन- पत्नी प्रीति कुमारी, एक पुत्र-एक पुत्री
अनुभव - गजेन्द्रसिंह खींवसर सबसे पहले 2003 में नागौर से विधायक बने। इसके बाद इन्हें प्रदेश का ऊर्जा राज्य मंत्री बनाया गया। 2008 में नवगठित लोहावट विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने। उस समय राज्य में सरकार कांग्रेस की बनी। 2013 में लोहावट से दूसरी बार विधायक बने। इसके बाद इन्हें उद्योग, वन एवं पर्यावरण, युवा एवं खेल मामलात विभाग का मंत्रालय का प्रभार दिया गया। 2018 के चुनाव में उनको हार का सामना करना पड़ा था। 2023 के इस बार के हुए चुनाव में 10549 मतों से विजयी रहे। लोहावट से लगातार चार बार भाजपा के प्रत्याशी रहे और एक बार नागौर से चुनाव भी लड़ा। अभी भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य भी है।
यह भी पढ़ें

Rajasthan Cabinet Expansion: भजनलाल सरकार की नई टीम तैयार, 22 मंत्रियों ने ली शपथ



आपको बता दें कि परिसीमन के बाद बने लोहावट विधानसभा क्षेत्र के पहले चुनाव (2008) में भाजपा ने वरिष्ठ नेता गजेंद्र सिंह खींवसर को चुनावी मैदान में उतारा। उनकी टक्कर कांग्रेस के महेंद्र सिंह भाटी से थे। वहीं निर्दलीय के तौर पर मालाराम विश्नोई ने चुनाव को रोचक बना दिया था। इस चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार महेंद्र सिंह भाटी के पक्ष में 17,964 वोट पड़े तो वहीं निर्दलीय उम्मीदवार माला राम विश्नोई के पक्ष में 31 फीसदी मतदाताओं ने 36,742 वोट डाले, जबकि भाजपा की ओर से ताल ठोक रहे गजेंद्र सिंह खींवसर को 38 प्रतिशत वोट मिले और गजेंद्र सिंह खींवसर ने 7695 मतों के अंतर से जीत हासिल की।

ट्रेंडिंग वीडियो