scriptCongress Chintan Shivir: New resolution of Congress, Bharat Jodo | Congress Chintan Shivir 2022: उदयपुर से निकला कांग्रेस का नव संकल्प और नया नारा- भारत जोड़ो | Patrika News

Congress Chintan Shivir 2022: उदयपुर से निकला कांग्रेस का नव संकल्प और नया नारा- भारत जोड़ो

कांग्रेस का चिंतन शिविर संपन्न हो गया। नौ साल के अंतराल के बाद हुए इस चिंतन शिविर में 430 नेताओं ने भाग लिया और कांग्रेस कार्य समिति (CWC) ने एक छह मसौदा प्रस्ताव तैयार किया है। कांग्रेस का मानना है कि जिस तरह ठीक 80 वर्ष पहले, साल 1942 में महात्मा गांधी ने भारत छोड़ो का नारा दिया था, उसी तर्ज पर अब 2022 के लिए भारत जोड़ो देश का नारा है और यही है उदयपुर का नव संकल्प। इसके लिए गांधी जयंती के मौके पर कन्याकुमारी से कश्मीर के लिए एक राष्ट्रीय भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने का संकल्प लिया गया।

जयपुर

Updated: May 16, 2022 07:18:59 am

राजस्थान के उदयपुर में चले कांग्रेस के तीन दिवसीय नव संकल्प शिविर (चिंतन शिविर) में पूरी तरह से संगठन मज़बूती और युवाओं पर फोकस रहा । 430 नेताओं के मंथन के बाद कांग्रेस ने साल 2022 के लिए नया नारा दिया है 'भारत जोड़ो'। शिविर (चिंतन शिविर) में संगठन को मजबूत करने के लिए । पार्टी की ओर से गठित छह कमेटियों ने अपनी विस्तृत रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को सौंपी। कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में रिपोर्ट पर चर्चा के बाद कई प्रस्तावों पर मुहर लगाई गई है।
congress_chintan_shivir.jpg
नौ साल के अंतराल के बाद हुए कांग्रेस के चिंतन शिविर में महात्मा गांधी के भारत छोड़ो नारे की तरह अब 2022 के लिए भारत जोड़ो की जरूरत बताई गई
कांग्रेस के भीतर सुधार शुरू करने के लिए टास्क फोर्स

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रविवार को राजस्थान के उदयपुर में आयोजित चिंतन शिविर में कुछ महत्‍वपूर्ण घोषणाएं की। उन्‍होंने कांग्रेस के भीतर सुधार शुरू करने के लिए टास्क फोर्स के गठन की घोषणा की। साथ ही जनता से जुड़ने के लिए भारत जोड़ों यात्रा का एलान भी किया। उन्‍होंने कहा- हम दो अक्टूबर से गांधी जयंती के दिन कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ों यात्रा की शुरुआत करेंगे। इस यात्रा में सभी युवा और नेता शामिल होंगे।
कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने एक छह मसौदा प्रस्ताव तैयार किया, जिसमें संगठन, किसान-कृषि, युवाओं से संबंधित मुद्दे, सामाजिक न्याय और कल्याण और अर्थव्यवस्था का मुद्दा शामिल था। तीन दिवसीय चिंतन शिविर में कांग्रेस द्वारा कुछ बड़े संकल्प लिए हैं।
युवाओं को लेकर कांग्रेस के युवा समूह ने संकल्प लिया है कि भाजपा निर्मित बेरोजगारी के दंश से लड़ने के लिए कश्मीर से कन्याकुमारी तक रोजगार दो पदयात्रा का प्रस्ताव किया, जिसकी शुरुआत आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर 15 अगस्त, 2022 से होगी।
युवाओं के लिए ये रहा संकल्प

स्कूलों में लागू किए गए शिक्षा के अधिकार कानून की तर्ज पर गरीब विद्यार्थियों के लिए कॉलेज व विश्वविद्यालयों में भी निशुल्क शिक्षा का प्रावधान हो और सभी सरकारी विभागों, भारत सरकार के उपक्रमों व तीनों सेनाओं में पड़े खाली पद अगले छह महीनों में विशेष भर्ती अभियान चलाकर भरे जाएं।
इसके अलावा संगठनात्मक स्तर पर 50 प्रतिशत पद 50 साल से कम उम्र के साथियों को मिलें। युवा समूह ने यह निष्कर्ष भी निकाला कि संसद, विधायिकाओं, विधान परिषद व सभी चुने हुए पदों पर रिटायरमेंट की उम्र की एक सीमा तय की जाए।
भविष्य में पार्टी की सरकारों में सभी पदों पर 50 वर्ष से कम आयु के 50 प्रतिशत व्यक्ति हों। उससे अधिक उम्र के तजुबर्ेेकार लोगों का फायदा पार्टी के संगठन की मजबूती के लिए लिया जाए। 2024 के संसदीय लोकसभा चुनाव से शुरुआत कर उसके बाद सभी संसद, विधायिकाओं, विधान परिषदों व अन्य स्तरों पर कम से कम 50 प्रतिशत टिकट 50 वर्ष से कम की आयु के साथियों को दिए जाएं।
पार्टी के नेताओं द्वारा गैरराजनैतिक गतिविधियों में अग्रणी भूमिका व सक्रियता निभाई जाए, जैसे कि यूथ फेस्टिवल, सांस्कृतिक आयोजन, खेल आयोजन, यूथ पार्लियामेंट, विषय विशेष पर टाउन हॉल मीटिंग व ब्लड डोनेशन आदि। इससे भी युवा वर्ग में पार्टी के फैलाव व विस्तार को मदद मिलेगी।
सामाजिक न्याय : राज्यों के बजट में एससी-एसटी सबप्लान

कांग्रेस के सामाजिक न्याय व सशक्तीकरण समूह के इस संकल्प का सबसे पहला कदम केंद्र व प्रांतीय सरकारों के बजट में एससी-एसटी सबप्लान को कानूनी मान्यता के साथ पुन: शुरू करना है। एससी-एसटी, ओबीसी व अल्पसंख्यक समुदायों की आवाज पुरजोर तरीके से उठाने, उनकी समस्याओं पर फोकस करने व उनके नेतृत्व को उचित स्थान देने के लिए कांग्रेस में सामाजिक न्याय सलाहकार परिषद का गठन हो, जो कांग्रेस अध्यक्ष को इस बारे सुझाव दे सके।
महिलाओं व अल्पसंख्यकों पर संकल्प

महिला सशक्तीकरण के लिए संसद, विधानसभाओं व विधान परिषदों में 33 प्रतिशत महिला आरक्षण का संवैधानिक संशोधन जल्द से जल्द पारित हो और हर वर्ग की महिला को अनुपातिक आरक्षण का लाभ मिले।
कांग्रेस कार्यसमिति, प्रदेश व जिला कांग्रेस कमेटीज की हर छह महीने में एक बैठक एससी, एसटी, ओबीसी, अल्पसंख्यक व महिला मुद्दों पर केंद्रित हो। वहीं जातीय जनगणना के आंकड़ों को सार्वजनिक करने की मांग को लेकर कांग्रेस एक निर्णायक संघर्ष करेगी और पिछड़े वर्गो को उनका अधिकार दिलवाएगी।
किसानों के लिए संघर्ष का संकल्प

इस चिंतन शिविर में किसान व खेत मजदूर समूह ने राष्ट्रीय किसान ऋण राहत आयोग गठन कर कर्जमाफी से कर्जमुक्ति तक का रास्ता तय किया जाने की मांग की है वहीं, कर्ज न लौटा पाने की स्थिति में किसान के खिलाफ अपराधिक कार्यवाही और किसान की खेती की जमीन की कुर्की पर पाबंदी लगाई जाए।
केंद्र सरकार एमएसपी की कानूनी गारंटी दे और किसान की एमएसपी का निर्धारण सी2 प्लस 50 फीसदी के आधार पर हो, यानि एमएसपी निर्धारण करते समय किसान को कॉस्ट ऑफ कैपिटल व जमीन का किराया जोड़कर 50 प्रतिशत अधिक दिया जाए।
खेती के पूरे क्षेत्र का बीमा किया जाए व नो प्रॉफिट, नो लॉस के सिद्धांत पर बीमा योजना का संचालन सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों की बीमा कंपनियां करें। किसान कल्याण के लिए यह आवश्यक है कि कांग्रेस के 2019 के घोषणापत्र के अनुरूप एक अलग कृषि बजट संसद में प्रस्तुत हो, जिसमें किसान कल्याण की सभी परियोजनाओं का लेखा-जोखा दिया जाए।
कृषि उपज मंडियों की संख्या मौजूदा 7,600 से बढ़ाकर 42,000 की जाए, ताकि हर 10 किलोमीटर पर एक कृषि उपज मंडी की स्थापना हो और मनरेगा मजदूरी को न्यूनतम मजदूरी के बराबर लाकर सालाना औसत आमदनी को 18,000 रुपये किया जाए।
नई अर्थनीति के लिए संकल्प

कांग्रेस के आर्थिक समूह ने व्यापक विचार-विमर्श के बाद भारत के लिए नव संकल्प आर्थिक नीति बनाने व लागू करने की कवायद की है। उदारीकरण के 30 वर्षो के बाद तथा घरेलू व वैश्विक परिस्थितियों का संज्ञान लेने के लिए स्वाभाविक तौर से आर्थिक नीति में बदलाव की आवश्यकता जरूरी है। इस नव संकल्प आर्थिक नीति का केंद्र बिंदु रोजगार सृजन हो। आज के भारत में जॉबलेस ग्रोथ को कोई स्थान नहीं हो सकता।
भाजपा सरकार द्वारा 70 साल में बनाई गई सरकारी संपत्तियों का अंधाधुंध निजीकरण अपनेआप में खतरनाक है। यह और गंभीर हो जाता है, जब भाजपा सरकार पब्लिक सेक्टर कंपनियों को बदनीयति से औने-पौने दाम पर अपने चंद और चहेते पूंजीपति मित्रों को बेच रही है। न केवल दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों का आरक्षण खत्म हो रहा है, बल्कि भारत की अर्थव्यवस्था पर कुछ लोगों का एकाधिकार स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस इस अंधाधुंध निजीकरण का घोर विरोध करेगी।
राजनैतिक समूह ने संकल्प लिया है कि सभी कांग्रेसजन गांधीवादी मूल्यों व नेहरू जी के आजाद भारत के सिद्धांत की रक्षा के लिए हर हालत में संघर्षरत रहेंगे। कांग्रेस संगठन के साथ-साथ राष्ट्रीय कांग्रेस सभी सामाजिक, सांस्कृतिक, गैर सरकारी संगठनों, ट्रेड यूनियन, थिंक टैंक व सिविल सोसायटी समूहों से व्यापक संपर्क और संवाद स्थापित करेगी। वहीं कांग्रेस सभी समान विचारधारा के दलों से संवाद व संपर्क स्थापित करने को कटिबद्ध है और राजनैतिक परिस्थितियों के अनुरूप जरूरी गठबंधन करने के रास्ते खुले रखेगी।
इसके अलावा, राहुल गांधी ने रविवार को यह स्वीकार किया कि कांग्रेस ने आम आदमी से अपना संबंध खो दिया है और इसे लोगों तक पहुंचकर इसे ठीक करना होगा। उन्होंने कहा, हमें लोगों के साथ अपने संबंध को पुनर्जीवित करना होगा और यह स्वीकार करना होगा कि यह टूट गया था। हम इसे मजबूत करेंगे, यह किसी शार्टकट से नहीं होगा, इसके लिए कड़ी मेहनत की जरूरत है। साथ ही उन्होंने कहा कि लोगों से संबंध मजबूत करने के लिए कांग्रेस अक्टूबर में राष्ट्रव्यापी भारत जोड़ा यात्रा निकालेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

SpiceJet की एक और फ्लाइट में खराबी, मुंबई में प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटनायूपी में प्रशासनिक फेरबदल, 4 IAS और 3 PCS किए गए इधर से उधरउत्तर प्रदेश संयुक्त प्रवेश परीक्षा बीएड परीक्षा-2022: जाने परीक्षा केंद्र के लिए बनाए गए नियमGujarat: एमई, एमफार्म में प्रवेश के लिए आज से शुरू होगा रजिस्ट्रेशनएंकर रोहित रंजन को रायपुर पुलिस नहीं कर पाई गिरफ्तार, अपने ही दो कर्मचारी के खिलाफ जी न्यूज़ ने दर्ज कराई FIRMausam Vibhag alert : मौसम विभाग का यूपी के कई जिलों में 9-12 जुलाई तक भारी बारिश का अलर्टबाप बोला, मेरे बेटे ने दोस्त के साथ मिलकर कर दी अपनी मां की हत्याGanpati Special Train: सेंट्रल रेलवे ने किया बड़ा एलान, मुंबई से चलेगी 74 गणपति महोत्सव स्पेशल ट्रेन, देखें पूरा शेड्यूल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.