scriptDue to the scorching heat, cold water is being poured on the machines | तेज गर्मी के चलते पेट्रोल पंपों पर हर आधे घंटे में मशीनों पर डालना पड़ रहा ठंडा पानी | Patrika News

तेज गर्मी के चलते पेट्रोल पंपों पर हर आधे घंटे में मशीनों पर डालना पड़ रहा ठंडा पानी

तेज गर्मी के कारण मशीन गर्म होकर बंद हो जाती है। इससे हर आधे घंटे में कपड़े को ठंडे पानी में भिगोकर रखना पड़ रहा है। अन्यथा मशीन चलते-चलते बंद हो जाती है। इससे पेट्रोल आना भी बंद हो जाता है।

जयपुर

Updated: May 12, 2022 12:31:46 am

जयपुर। तेज गर्मी के चलते आमजन, बच्चों-महिलाओं सहित लोग परेशान दिख रहे हैं। वहीं पेट्रोल पंपों पर कर्मचारियों को तेज गर्मी के चलते दौड़-धूप करनी पड़ रही है। जानकारी के अनुसार बांडी नदी पर स्थित पेट्रोल पंप पर कर्मचारी ओमप्रकाश चौपड़ा ने बताया कि तेज गर्मी के कारण मशीन गर्म होकर बंद हो जाती है। इससे हर आधे घंटे में कपड़े को ठंडे पानी में भिगोकर रखना पड़ रहा है। अन्यथा मशीन चलते-चलते बंद हो जाती है। इससे पेट्रोल आना भी बंद हो जाता है। कर्मचारियों ने बताया कि दिन में 12 बजे बाद व शाम 5 बजे तक ज्यादा समस्या रहती है।
तेज गर्मी के चलते पेट्रोल पंपों पर हर आधे घंटे में मशीनों पर डालना पड़ रहा ठंडा पानी
तेज गर्मी के चलते पेट्रोल पंपों पर हर आधे घंटे में मशीनों पर डालना पड़ रहा ठंडा पानी
दहकती गर्मी, बिजली कटौती की मार, सूख रही खेती
मोरीजा. सच में प्रकृति का संरक्षण आम जनजीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है? अब महसूस होने लगा है। प्राकृतिक संसाधनों की अनदेखी करने वाले मनुष्य की हठधर्मिता प्रकृति के इस रौद्र रूप के सामने बेबस नजर आने लगी है। एक तरफ राम ने रूठ कर प्रकृति के स्वरूप को ही बदलकर रख दिया है। वहीं दूसरी ओर मनुष्य को विज्ञान के नाम पर आधुनिकता के आकर्षण के दुष्परिणामों का आईना भी दिखा दिया है। जहां राम रुठा वहां राज ने भी हाथ पसार दिए हैं और जनता को स्वयं के हाल पर छोड़ कर अपनी लाचारी दिखा दी है। अक्सर मई-जून में पडऩे वाली गर्मी ने मार्च माह में ही अपना सितम ढहाना शुरू कर दिया था। भीषण गर्मी के इस रौद्र रूप को देखकर आम आदमी ने सरकार से अपेक्षाएं बांधी थी, लेकिन सरकार ने भी बिजली कटौती कर आम आदमी को हाथ पर हाथ धरकर बैठने को मजबूर कर दिया है। इस भीषण गर्मी में फसलों के लिए किसानों को जहां पर्याप्त बिजली की आपूर्ति होनी चाहिए थी, वहां किसानों को अभी केवल 4 घंटे की बिजली आपूर्ति की जा रही है।उसमें भी यह 4 घंटे की बिजली आपूर्ति बिजली चालू करने व बंद करने की प्रक्रिया में 10-15 मिनट ऊपर नीचे कर दी जाती है।
पशुओं को भी राहत के लिए जतन
जैतपुर खींची. अंचल में दिन में तापमान के बढऩे के बाद रात का तापमान बढऩे से आमजन बेहाल रहा। रात्रि को बढ़े तापमान से ग्रामीणों के पसीने छूटने लगे हैं। ऐसे में आमजन के साथ पशु-पक्षी भी गर्मी से बेहाल हो रहे हैं। घोड़ी वाला अपने घोड़ी को गर्मी से निजात दिलाने के लिए उसे पानी से नहलाने में जुटे हुए दिखे।
तेज गर्मी के चलते पेट्रोल पंपों पर हर आधे घंटे में मशीनों पर डालना पड़ रहा ठंडा पानी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्डकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंई-कॉमर्स साइटों के फेक रिव्यू पर लगेगी लगाम, जांच करने के लिए सरकार तैयार करेगी प्लेटफॉर्मMenstrual Hygiene Day 2022: दुनिया के वो देश जिन्होंने पेड पीरियड लीव को दी मंजूरी'साउथ फिल्मों ने मुझे बुरी हिंदी फिल्मों से बचाया' ये क्या बोल गए सोनू सूद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.