शिक्षा विभाग दिलाएगा प्रति वर्ष 2.2 लाख रुपए की नौकरी

Education department पिछले सत्र में गणित में पास हुए विद्यार्थियों व वर्तमान सत्र के विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप उपलब्ध करवाने के साथ ही नौकरी उपलब्ध करवाएगा।

By: Rakhi Hajela

Updated: 14 Oct 2021, 07:42 AM IST



जयपुर। शिक्षा विभाग पिछले सत्र में गणित में पास हुए विद्यार्थियों व वर्तमान सत्र के विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप उपलब्ध करवाने के साथ ही नौकरी उपलब्ध करवाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने एचसीएल कंपनी के साथ करार किया है। कंपनी जल्द ही एक ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन करवाएगी, इसमें सफल रहने वाले विद्यार्थियों को ट्रेनिंग देने के बाद स्कॉलरशिप उपलब्ध कराई जाएगी। इसके बाद में नौकरी भी दी जाएगी। ऑनलाइन परीक्षा के माध्यम से चयनित विद्यार्थियों का 6 महीने से एक साल तक का ट्रेनिंग व इंटर्नशिप कार्यक्रम होगा। इस दौरान विद्यार्थियों को 10 हजार रुपए दिए जाएंगे। ट्रेनिंग पूरी होने के बाद प्रति वर्ष 1.70 लाख से 2.2 लाख रुपए की नौकरी दी जाएगी। माध्यमिक शिक्षा निदेश सौरभ स्वामी ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि इसमें विद्यार्थियों को शामिल किया जाए।

विमुक्त, घुमन्तु समुदायों के लिए 24 करोड़ रूपए की मंजूरी

जयपुर। प्रदेश के विमुक्त, घुमन्तु एवं अर्द्ध घुमन्तु समुदायों के सामाजिक, शैक्षिक एवं आर्थिक उन्नयन संबंधी गतिविधियों के लिए 23 करोड़ 92 लाख रूपए के अतिरिक्त बजट आवंटन की स्वीकृति मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दी है। इस स्वीकृति से गाड़िया लुहार, बंजारा, सांसी, बावरी, भाट, नट, मदारी, सपेरा, बहरूपिया आदि समुदायों के कल्याण के लिए साइकिल वितरण, स्कूटी वितरण, छात्रावास संचालन तथा रोजगारोन्मुखी कार्यक्रमों आदि का संचालन किया जा सकेगा। साथ ही, इन जनजातियों की पारंपरिक कलाओं के संरक्षण एवं उत्थान के लिए डिनोटिफाइड ट्राइब रिसर्च एण्ड प्रिजर्वेशन सेंटर की स्थापना की जाएगी।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned