scriptराजस्थान में भीषण गर्मी के बीच बिजली संकट, भजनलाल सरकार के अफसरों की आई आफत | Electricity crisis in Rajasthan amid severe heat, trouble for Bhajanlal government officers | Patrika News
जयपुर

राजस्थान में भीषण गर्मी के बीच बिजली संकट, भजनलाल सरकार के अफसरों की आई आफत

भीषण गर्मी के बीच पावर (बिजली) मैनेजमेंट गड़बड़ा रहा है। एक दिन में विद्युत खपत 3,235 लाख यूनिट तक पहुंच गई और अगले एक माह में 3400 लाख यूनिट को क्रॉस करने का आंकलन किया गया है। दिन में तो फिलहाल डिमांड के अनुसार सप्लाई की जा रही है, लेकिन रात के चार घंटों ने ऊर्जा महकमे के अफसरों की नींद उड़ा दी है।

जयपुरMay 09, 2024 / 09:20 am

Kirti Verma

Rajasthan News: भीषण गर्मी के बीच पावर (बिजली) मैनेजमेंट गड़बड़ा रहा है। एक दिन में विद्युत खपत 3,235 लाख यूनिट तक पहुंच गई और अगले एक माह में 3400 लाख यूनिट को क्रॉस करने का आकलन किया गया है। दिन में तो फिलहाल डिमांड के अनुसार सप्लाई की जा रही है, लेकिन रात के चार घंटों ने ऊर्जा महकमे के अफसरों की नींद उड़ा दी है। शाम 7 से रात 11 बजे तक बिजली डिमांड ज्यादा है और उस समय उतनी बिजली नहीं मिल पाने के कारण कई ग्रामीण इलाकों में आधे से एक घंटे तक बिजली कटौती (लोड शेडिंग) की नौबत आ रही है। एक्सचेंज से भी पूरी बिजली नहीं मिल पा रही है। इस बीच 1130 मेगावाट की चार यूनिट से बिजली उत्पादन ठप होने से दिक्कत ज्यादा बढ़ गई है। राजधानी जयपुर में ही लगातार ट्रिपिंग हो रही है।
इन 4 यूनिट से बिजली उत्पादन ठप
कोटा थर्मल- 110-110 मेगावाट की दो यूनिट (12 मई तक शुरू होने की संभावना)
छबड़ा प्लांट- 660 मेगावाट की एक यूनिट (12 मई बाद शुरू होने की संभावना)
सूरतगढ़ थर्मल- 250 मेगावाट की एक यूनिट (25 दिन बाद हो सकता है संचालन)
यहां से कर रहे इंतजाम
-राज्य विद्युत उत्पादन निगम से 5200 मेगावाट
-सोलर व विंड एनर्जी एग्रीमेंट से करीब 5000 मेगावाट
-शॉर्टटर्म टेंडर के जरिए 500 से 700 मेगावाट
-एक्सचेंज से 500 मेगावाट
-बाकी बिजली खरीद पावर परचेज एग्रीमेंट से जुड़ी उत्पादन कंपनियों से
यह भी पढ़ें : गड़बड़ाया शेड्यूल, जयपुर-दिल्ली समेत इन बड़े शहरों के लिए आज से 7 दिन तक बंद रहेंगी ये फ्लाइट्स

हवा से राहत की उम्मीद
दिन में तो क्षमता के अनुपात में सौर ऊर्जा मिल रही है, लेकिन रात में पवन ऊर्जा में उतार-चढ़ाव आ रहा है। इससे रात के समय दिक्कत बढ़ रही है। विंड एनर्जी पूरी मिलती है तो काफी राहत मिलने की उम्मीद रहेगी।
पिछले वर्ष से 7 प्रतिशत अधिक डिमांड
प्रदेश में इस बार मार्च से जून तक 394865 लाख यूनिट बिजली की अनुमानित डिमांड का आकलन किया गया है। यह पिछले वर्ष इन्हीं माह के अनुपात में करीब 7 प्रतिशत अधिक होगी। डिमांड के अनुपात में अभी 11320 लाख यूनिट की कमी है, जिसका ऊर्जा विकास निगम इंतजाम करने में जुटा है ताकि बिजली कटौती की नौबत नहीं आए। पिछले दो वर्ष में बिजली संकट और फिर कटौती के हालात से सबक लेते हुए ऊर्जा विभाग और ऊर्जा विकास निगम दोनों ने होमवर्क किया है।
डिमांड के अनुरूप बिजली आपूर्ति की जा रही है। रात को कुछ घंटे के लिए बिजली की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। उस समय निर्धारित पवन ऊर्जा नहीं मिलती तो दिक्कत आती है। उस समय लोड शेडिंग करनी पड़ती है। डिमांड के अनुसार सप्लाई के लिए हर संभव इंतजाम कर रहे हैं।
-हीरालाल नागर नगर, ऊर्जा मंत्री

Hindi News/ Jaipur / राजस्थान में भीषण गर्मी के बीच बिजली संकट, भजनलाल सरकार के अफसरों की आई आफत

ट्रेंडिंग वीडियो