scriptindia has got 14 presidents so far, only Reddy can become unopposed | देश को अब तक मिले 14 राष्ट्रपति, रेड्डी ही बन सके निर्विरोध | Patrika News

देश को अब तक मिले 14 राष्ट्रपति, रेड्डी ही बन सके निर्विरोध

 

- एक मात्र नीलम संजीव रेड्डी 1977 के चुनाव में चुने गए निर्विरोध
- राष्ट्रपति चुनने में राजस्थान की भूमिका भी रहती है महत्वपूर्ण

 

जयपुर

Updated: June 17, 2022 10:35:05 pm


अरविन्द सिंह शक्तावत
जयपुर।
देश में राष्ट्रपति चुनावों को लेकर सरगर्मिया तेज है। एनडीए के साथ ही विपक्षी दल भी अपना उम्मीदवार उतारने की तैयारी में जुट गए हैं। एनडीए कोशिश कर रही है कि राष्ट्रपति निर्विरोध चुना जाए। लेकिन, देश में 1952 से लेकर अब तक हुए राष्ट्रपति चुनावों में सिर्फ एक बार ही ऐसा हो पाया है, जब राष्ट्रपति निर्विरोध चुना गया। इसके अलावा हर बार राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव हुए हैं। इस चुनाव में राजस्थान की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही है।
देश को अब तक मिले 14 राष्ट्रपति, रेड्डी ही बन सके निर्विरोध
देश को अब तक मिले 14 राष्ट्रपति, रेड्डी ही बन सके निर्विरोध
राजस्थान उन प्रमुख राज्यों में शामिल हैं, जो राष्ट्रपति चुनने में सबसे ज्यादा वोट देने की भूमिका में रहते हैं। राजस्थान राष्ट्रपति चुनावाें में वोट वैल्यू के हिसाब से दसवें नम्बर का राज्य है। राजस्थान से ज्यादा वोट वैल्यू आंध्रप्रदेश, बिहार, गुजरात, कर्नाटक, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडू, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल राज्यों की है। देश में सबसे ज्यादा वोट वैल्यू वाला राज्य उत्तर प्रदेश है, वहीं सबसे कम वोट वैल्यू सिक्किम की है।
1952 से लेकर अब सिर्फ एक बार ही निर्विरोध चुने गए राष्ट्रपति

देश में जब भी राष्ट्रपति चुनाव होते हैं, केन्द्र में सत्ता धारी दल की कोशिश होती है कि राष्ट्रपति निर्विरोध चुना जाए। इसके लिए आम राय बनाने की कोशिश भी की जाती है। लेकिन, 1952 से लेकर अब तक हुए 15 चुनावों में सिर्फ एक बार ही ऐसा हुआ है, जब देश में राष्ट्रपति निर्विरोध चुने गए हों। 1977 में नीलम संजीव रेड्डी ही ऐसे राष्ट्रपति रहे, जिन्हें निर्विरोध राष्ट्रपति चुना गया था। 1977 के चुनाव में रेड्डी के अलावा 36 अन्य ने भी नामांकन दाखिल किए थे, लेकिन सभी के नामांकन खारिज हो गए।
राजेन्द्र प्रसाद रहे सबसे ज्यादा समय राष्ट्रपति

देश में अब तक एक ही ऐसे राष्ट्रपति रहे हैं , जिन्हें फिर से राष्ट्रपति बनने का मौका मिला। 1952 में डाँ राजेन्द्र प्रसाद राष्ट्रपति चुने गए। इसके बाद 1957 में फिर से उन्हें राष्ट्रपति चुना गया। डाँ.राजेन्द्र प्रसाद इससे पहले 1950 में भी राष्ट्रपति बनाए गए थे। इनके अलावा डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन, डॉ . जाकिर हुसैन, वी वी गिरी, फकरूद्दीन अली अहमद, नीलम संजीव रेड्डी, ज्ञानी जेल सिंह, आर वेंकटरमन, शंकर दयाल शर्मा, के आर नारायणन, ए पी जे अब्दुल कलाम, प्रतिभा देवी सिंह पाटील, प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति का एक ही कार्यकाल मिला। रामनाथ कोविंद 2017 में पहली बार राष्ट्रपति चुने गए।

सर्वाच्च पद पर पहुंचने वालों में राजस्थान की बहू भी

देश में राष्ट्रपति के पद पर पहुंचने वालों में राजस्थान की बहू का नाम भी शामिल हैं। राजस्थान की बहू प्रतिभा देवी सिंह पाटील 2007 में राष्ट्रपति चुनी गई थीं। प्रतिभा देवी सिंह पाटील का ससुराल सीकर जिले में हैं। प्रतिभा देवी सिंह पाटील को राजस्थान के ही पुत्र भैरों सिंह शेखावत ने राष्ट्रपति चुनाव में टक्कर दी थी। स्व शेखावत उस समय उपराष्ट्रपति थे।
राजस्थान के सांसद-विधायकों की वोट वैल्यू 50 हजार 300
राष्ट्रपति चुनावों में सांसद और विधायक को वोट देने का अधिकार है। यदि चुनाव होते हैं तो लोकसभा और राज्यसभा के 776 सांसद एवं राज्यों की विधानसभा के 4 हजार 33 विधायक वोट देते हैं। 1971 की जनगणना के अनुसार वोटों की गणना होती है। राजस्थान में 200 विधायकों के वोट की कुल वैल्यू 25 हजार 800 है। एक वोट की वैल्यू 129 मानी गई है। इसी तरह प्रदेश के 35 राज्यसभा-लोकसभा सांसदों की वोट वैल्यू 24 हजार 500 है। एक सांसद के वोट की वैल्यू 700 मानी गई है। राष्ट्रपति चुनावों में राजस्थान के जो सांसद और विधायक वोट देते हैं, उनकी वोट वैल्यू इन चुनावों में 50 हजार 300 होगी। राष्ट्रपति चुनावों में देश के सांसदों और विधायकों के वोट की कुल वैल्यू 10 लाख 86 हजार 431 मानी गई है।
प्रदेश में भाजपा की वोट वैल्यू ज्यादा

यदि राष्ट्रपति चुनाव हाेते हैं तो राजस्थान में भाजपा के सांसद और विधायकों की वोट वैल्यू कांग्रेस सांसद-विधायक एवं उनके समर्थक विधायकों से ज्यादा है। भाजपा के सांसद-विधायकों की वोट वैल्यू 29 हजार 459 है, जबकि कांग्रेस के सांसद-विधायकों की वोट वैल्यू 18 हजार 132 है। 21 अन्य दल एवं निर्दलीय विधायकों की वोट वैल्यू 2 हजार 709 होती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे ने शिंदे खेमे को फटकारा, बोले- मेरे गर्दन और सिर में दर्द था, मैं अपनी आंखें नहीं खोल पा रहा था...Maharashtra Politics: बीजेपी नेता ने राज्यपाल को लिखा पत्र, कहा- उद्धव सरकार 2 दिन से अंधाधुंध ले रही फैसले, डिप्टी CM ने दिया जवाबMaharashtra Political Crisis: नासिक में एकनाथ शिंदे का भारी विरोध, शिवसैनिकों ने पोस्टर पर कालिख पोती, शिंदे ने टाला मुंबई आने का प्लान2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालG7 Summit 2022: पीएम मोदी कल जी7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जर्मनी जाएंगे, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चाMumbai News Live Updates: शिवसैनिक कर सकते है हंगामा! मुंबई समेत राज्यभर के सभी पुलिस स्टेशन हाई अलर्ट परPresidential Election: NDA प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी, ममता बनर्जी व शरद पवार से की बात, सपा का यशवंत सिन्हा को सर्मथन का ऐलान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.