दिल्ली के खिलाफ शॉर्ट रन विवाद....अंपायर फैसले के खिलाफ पंजाब ने की अपील

पंजाब ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच के दौरान अंपायर नितिन मेनन के शार्ट रन के गलत फैसले के खिलाफ अपील दायर की है। पंजाब को स्कोर टाई रहने के बाद सुपर ओवर में हार का सामना करना पड़ा था।

By: satish

Updated: 22 Sep 2020, 05:18 AM IST

दुबई। ङ्क्षकग्स इलेवन पंजाब ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ मैच के दौरान अंपायर नितिन मेनन के शार्ट रन के गलत फैसले के खिलाफ अपील दायर की है। पंजाब को स्कोर टाई रहने के बाद सुपर ओवर में हार का सामना करना पड़ा था। पंजाब के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सतीश मेनन ने कहा कि इस फैसले से टीम को प्लेऑफ में नहीं पहुंच पाने का खामियाजा भी भुगतना पड़ सकता है और आईपीएल जैसे विश्व स्तरीय टूर्नामेंट में इस तरह की गलती की कोई जगह नहीं होनी चाहिए।
ऑनर प्रीति जिंटा ने की नियमों में बदलाव की मांग
इसके अलावा टीम की मालकिन प्रीति ङ्क्षजटा ने भी इस फैसले पर आपत्ति जताते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से नियमों में बदलाव की मांग की है। यह मामला अब मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ के पास गया है और इस पर फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है।
फ्रंट फुट अंपायर की कमी खली
आईपीएल में फ्रंट फुट नौ बॉल चेक करने के लिए विशेष अंपायर रखा गया है और अगर यह विकल्प इस मामले में भी होता तो शायद मैच सुपर ओवर तक नहीं जाता।
सहवाग बोले.. अंपायर को दे दो मैन ऑफ द मैच
भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अंपायर के इस गलत फैसले पर तंज कसा है। सहवाग ने सोशल मीडिया पर लिखा, मैं मैन ऑफ द मैच से खुश नहीं हूं। जिस अंपायर ने इसे शॉर्ट रन दिया उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना जाना चाहिए था। शॉर्ट रन नहीं था। और यह अंतर पैदा कर गया।
ये है मामला
दिल्ली और पंजाब के बीच मुकाबले के दौरान पंजाब की पारी में 19वें ओवर की तीसरी गेंद पर मयंक अग्रवाल ने दो रन लिए लेकिन स्क्वेयर लेग पर खड़े अंपायर नितिन ने क्रिस जॉर्डन के पहले रन को शॉर्ट रन करार दिया और दो की जगह पंजाब के खाते में एक रन जुड़ा। लेकिन रिप्ले में दिखाया गया कि जॉर्डन का बल्ला क्रीज के अंदर तक गया था और उन्होंने पूरा रन लिया था। पंजाब और दिल्ली के बीच यह मुकाबला टाई रहा था और मैच का फैसला सुपर ओवर में हुआ जहां पंजाब को हार का सामना करना पड़ा था। दोनों टीमों का एक बराबर 157 रन का स्कोर रहा था। यदि यह शार्ट रन न दिया गया होता तो पंजाब निर्धारित ओवरों में ही मैच जीत सकता था।

....एक शॉर्ट रन ने मुझे काफी दर्द दिया। अगर तकनीक का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता तो इसका फायदा क्या है? यह समय है जब बीसीसीआई को नए नियम लाने चाहिए। यह हर साल नहीं हो सकता।
- प्रीति जिंटा, ऑनर किंग्स इलेवन पंजाब

satish Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned