32 दिन बाद भी पुलिस खाली हाथ : ह्यूमन ट्रैफिकिंग का शिकार हुआ कृष्णा

फिरौती के लिए फोन नहीं आया, रिश्तेदार व परिचितों की कुंडली खंगाली, कहीं नहीं मिला मासूम, अब ह्यूमन ट्र्रैफिकिंग एंगल पर पुलिस कर रही जांच

By: Mukesh Sharma

Published: 14 Oct 2021, 06:00 AM IST

जयपुर. प्रताप नगर निवासी कृष्णा के अपहरण ने पुलिस के पैरों तले जमीन खिसका दी। पुलिस ने फिरौती और रिश्तेदार व परिचितों की पूरी कुंडली खंगालने के बाद अपहरण ह्यूमन ट्रैफिकिंग के लिए किए जाने की संभावना जताई है। यह पहला मामला नहीं है, जब जयपुर में ह्यूमन ट्रैफिकिंग के लिए बच्चे का अपहरण किया गया। पहले भी ह्यूमन ट्रैफिकिंग के लिए यहां बच्चों के अपहरण हो चुके। इनमें कुछ बच्चे बरामद कर लिए गए। लेकिन कुछ का आज तक सुराग नहीं लग सका। कृष्णा के पिता आशुतोष का कहना है कि उनका मासूम किस हाल में होगा। वे खुद भी अपने बेटे की तलाश में कई जगह भटक रहे हैं। लेकिन बेटे का पता नहीं चल सका। आज भी आशुतोश की आंखों में अपहरण वाले दिन सड़क पर पड़ी मिली साइकिल और चप्पल देखकर आंसू छलक आते हैं।
एक माह बाद बगरू में बच्चे के अपहरण का प्रयास

11 सितम्बर को प्रताप नगर में बच्चे का अपहरण किया गया। इसके ठीक एक माह बाद 11 अक्टूबर को बगरू के छितरौली में बच्चे के अपहरण का प्रयास किया गया। पुलिस ने बताया कि प्रताप नगर में भी शाम को अंधेरा हुआ था और बगरू में भी शाम को अंधेरा हुआ था, तभी बच्चे को टॉफी देकर अगवा करने का प्रयास किया गया। चार अपहरणकर्ता बच्चे को कुछ दूर ले गए थे। लेकिन बच्चे को एक जगह लेटाकर दो अपहरणकर्ता बाथरूम करने चले गए और एक इधर-उधर हो गया। तभी बच्चा चिल्लाते हुए भाग निकला। अपहरणकर्ता पकड़े जाने के डर से भाग गए।

क्राइम ब्रांच ने भी दूरी बनाई

क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी ने बताया कि बनीपार्क में अजय यादव हत्याकांड और बस्सी में बलात्कार के बाद महिला की हत्या की घटना होने पर प्रताप नगर में बच्चे की तलाश में जुटी टीम को दूर कर लिया गया। प्रताप नगर थाना पुलिस ही बच्चे की तलाश में जुटी है।

पुलिस का यह कहना

प्रताप नगर थानाधिकारी बलवीर सिंह ने बताया कि कृष्णा का अपहरण फिरौती के लिए नहीं किया गया। रिश्तेदार व परिचितों की कुंडली खंगाल ली है। अभी तक किसी की भूमिका संदिग्ध नहीं मिली। बच्चे के ह्यूमन ट्रैफिकिंग की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। कृष्णा के माता-पिता के बीच कुछ मनमुटाव था। इस एंगल पर भी बच्चे की तलाश में जुटे हैं। बगरू में बच्चे का अपहरण का प्रयास हुआ है। बुधवार को उक्त बच्चे से अपहरणकर्ताओं के हुलिए की जानकारी के लिए बयान लेने आया हूं। बच्चे की तलाश में हरियाणा और उत्तराखंड में दबिश दी, लेकिन उसका सुराग नहीं लगा। उसकी तलाश जारी है।

Mukesh Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned