जीवाणु यौन दरिंदा, 25 नाबालिगों को बना चुका शिकार, 35 से 40 पुरुषों व किन्नरों के साथ किया यौनाचार

शास्त्री नगर रेप केस ( Shastri Nagar Rape Case ) : जयपुर पुलिस का चौकाने वाला खुलासा

By: Deepshikha Vashista

Published: 07 Jul 2019, 09:52 PM IST

देवेंद्र शर्मा / जयपुर. Shastri Nagar Rape Case : सिकंदर उर्फ जिवाणु से पुलिस गहनता से पूछताछ कर रही है। पुलिस ने बताया कि वह एक तरह का यौन दरिंदा या 'सेक्सुअल प्रिडेटर' है। उसकी यौन लिप्सा इसे लगातार कोई न कोई शिकार ढूंढने के लिए अभिप्रेत करती थी। अवसर मिलने पर वह पुरुष, किन्नर, नाबालिग बालक-बालिका, महिला के साथ यौन क्रिया व बलातकार करता था।

पूछताछ में उसने करीब 25 नाबालिग बालक-बालिकाओं और 35 से 40 पुरुषों व किन्नरों के साथ यौनाचार किया है। यह अप्राकृतिक यौन क्रिया करता था। इस दौरान वह हिंसक भी हो जाता और मारपीट करता था।

 

पुलिस के सामने दी धमकी

सिकंदर से जब पुलिस पूछताछ कर रही थी तो उसके चेहरे पर जरा भी डर या पछतावा नहीं था। बल्कि कह रहा था कि जिन लोगों उसके बारे में पुलिस को सूचना दी और पकड़ाया, उनपर वह मौत का कहर के रूप में जेल से निकलते ही टूट पड़ेगा और बदला पूरा करेगा।

 

 

जीवणु ने जमानत के लिए कागजों में की फर्जी शादी, बाहर आकर मासूमों को बनाया शिकार

पुलिस ने खुलासे में ने बताया कि वर्ष 2004 में मुरलीपुरा इलाके में सिकंदर ने 11 वर्षीय बालक के साथ कुकर्म कर उसकी हत्या कर लाश को पानी की टंकी में डाल दिया था। इस मामले में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर अदालता में चालान पेश किया। अदालत ने सिकंदर को आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि जेल से बाहर आने के लिए शहनाज बानों के साथ कागजों में फर्जी शादी रचाई और शादी के कागजों के आधार पर अदालत से वर्ष 2015 में जमानत लेने में सफल रहा। कमिश्नर ने बताया कि फर्जी शादी के मामले की जांच कर इस मामले में भी अलग से मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

 

ये खबरें भी पढ़ें : 22 जून की घटना पर पुलिस ने दिखाई होती गंभीरता, तो जीवाणु का शिकार न बनती दूसरी मासूम

 

 

Deepshikha Vashista
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned