Scholarship- ऑक्सफोर्ड, हार्वर्ड और स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटीज में मिलेगा पढऩे का मौका

Scholarship- Oxford, Harvard and Stanford Universities जैसे नामचीन विश्वविद्यालय में प्रदेश के चुनिंदा मेधावी विद्याथियों को पढऩे का मौका मिलेगा, वह भी निशुल्क। राज्य सरकार उनका पूरा खर्च उठाएगी। यह संभव होगा Rajiv Gandhi Scholarship for Academic Excellence Scheme के जरिए।

By: Rakhi Hajela

Published: 06 Oct 2021, 08:54 PM IST


राज्य सरकार उठाएगी पूरा खर्चा
राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना लागू
22 अक्टूबर तक आवेदन मांगे

जयपुर।
Oxford, Harvard and Stanford Universities जैसे नामचीन विश्वविद्यालय में प्रदेश के चुनिंदा मेधावी विद्याथियों को पढऩे का मौका मिलेगा, वह भी निशुल्क। राज्य सरकार उनका पूरा खर्च उठाएगी। यह संभव होगा Rajiv Gandhi Scholarship for Academic Excellence Scheme के जरिए। जिसे प्रदेश में लागू कर दिया गया है। प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग ने इस स्कॉलरशिप के लिए विद्यार्थियों से आवेदन मांगे हैं। आवेदन २० अक्टूबर तक दिए जा सकेंगे। चुने गए २०० मेधावी विद्यार्थियों को विश्व के जानी मानी चुनिंदा ५० उच्च शिक्षण संस्थानों में पढऩे का अवसर मिलेगा।
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की जयंती पर इस योजना की घोषणा की थी जिस पर कार्य करते हुए उच्च शिक्षा विभाग ने इसे लागू कर दिया है। चयनित विद्याथ्ॢियों को स्नातक, स्नातकोत्तर, पीएचडी एवं पोस्ट डॉक्टोरल स्तर पर अध्ययन के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। विद्यार्थियों के यात्रा किराया, ट्यूशन फीस सहित सम्पूर्ण खर्चा राज्य सरकार वहन करेगी।

30 फीसदी अवॉर्ड छात्राओं के लिए चिह्नित
स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों के लिए केवल मानवीकी से संबंधित विषयों के अध्ययन के लिए ही छात्रवृृत्ति प्रदान की जाएगी। हर साल 200 मेधावी विद्यार्थियों में से 30 फीसदी अवॉर्ड छात्राओं के लिए चिह्नित रखते हुए 60 छात्राओं को अध्ययन सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि छात्रवृृत्ति के लिए आवेदन करने से पूर्व आवेदकों का संबंधित विदेशी संस्थानों में प्रवेश होना जरूरी है। इस योजना के तहत प्रति वर्ष 8 लाख से कम पारिवारिक आय वाले अभ्यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

इन विषयों में मिलेगी स्कॉलरशिप
योजना के तहत ह्यूमैनिटीज, सोशल साइंस, एग्रीकल्चर एंड फोरेस्ट साइंस, नेचर एंड एनवायरमेंटल साइंस एवं लॉ के लिए 150, मैनेजमेंट एंड बिजनस एडमिनिस्ट्रेशन एवं इकोनॉमिक्स एंड फाइनेंस के लिए 25 और प्योर साइंस एवं पब्लिक हेल्थ विषयों के लिए 25 विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप दी जाएगी। इन विषयों में स्थान रिक्त रहने की दशा में इंजीनियरिंग एंड रिलेटेड साइंस, मेडिसिन तथा एप्लाइड साइंस में अधिकतम 15 उम्मीदवारों को छात्रवृत्ति दी जा सकेगी।

आरजीएस पोर्टल पर कर सकेंगे आवेदन
आवेदन राज्य सरकार के विशेष आरजीएस पोर्टल/वेबसाइट पर प्राप्त किए जाएंगे और पोर्टल पर ही आवेदकों का चयन किया जाएगा। पात्र आवेदकों के 200 से अधिक आवेदन मिलने पर छात्रवृत्ति के लिए लॉटरी के माध्यम से चयन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आवेदन एवं योजना से संबंधित अधिक जानकारी विभागीय वेबसाइट https://hte.rajasthan.gov.in/ पर देखी जा सकती है।

इनका कहना है,
प्रदेश के मेधावी विद्यार्थियों को विदेश की जानी मानी यूनिवर्सिटीज में पढऩे का अवसर देने के लिए राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना लागू की गई है। हमने विद्यार्थियों से इसके लिए आवेदन मांगे हैं। २० अक्टूबर तक आवेदन किए जा सकेंगे। पढ़ाई का खर्चा सरकार उठाएगी।
भंवर सिंह भाटी,
उच्च शिक्षा मंत्री

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned