scriptPhoto : मोहर्रम के लिए ताजिए तैयार करते कारीगर, ये है शानदार कारीगरी का नमूना | Patrika News
जयपुर

Photo : मोहर्रम के लिए ताजिए तैयार करते कारीगर, ये है शानदार कारीगरी का नमूना

Muharram 2024 : इस्लाम धर्म को मानने वालों का प्रमुख दिन मुहर्रम है। मुहर्रम की 10वीं तारीख को यौम-ए-आशूरा के नाम से जाना जाता है। यह इस साल 17 जुलाई को होगा। 17 तारीख के मोहर्रम को लेकर चांदपोल बाजार में ताजिए बनाते कलाकार। कलाकार सोने-चांदी सहित कई तरह की कलम की नक्काशी से ताजिये तैयार करते हैं।

जयपुरJul 09, 2024 / 07:47 pm

Sanjay Kumar Srivastava

Muharram 2024
1/5
Muharram 2024 : इस्लाम धर्म को मानने वालों का प्रमुख दिन मुहर्रम है।
Muharram 2024
2/5
Muharram 2024 : मुहर्रम की 10वीं तारीख को यौम-ए-आशूरा के नाम से जाना जाता है। यह इस साल 17 जुलाई को होगा।
Muharram 2024 :
3/5
Muharram 2024 : 17 तारीख के मोहर्रम को लेकर चांदपोल बाजार में ताजिए बनाते कलाकार। कलाकार सोने-चांदी सहित कई तरह की कलम की नक्काशी से ताजिये तैयार करते हैं।
Muharram 2024
4/5
Muharram 2024 : दरअसल मुहर्रम इस्लामी कैलेंडर का पहला महीना माना जाता है। हिजरी सन का आरंभ भी इसी महीने से होता है। इस महीने को इस्लाम के चार पवित्र महीनों में शुमार किया जाता है। अल्लाह के रसूल हजरत मुहम्मद (सल्ल.) ने इस महीने को अल्लाह का महीना कहा है।
Muharram 2024
5/5
Muharram 2024 : ताजिए सोने-चांदी की कलम की नक्काशी सहित मेहंदी, कांच, लकड़ी और कागज की चादर से बनाए जाते हैं। दो दिनों तक मुस्लिम समुदाय के लोग मुहर्रम मनाएंगे। इसके बाद ताजियों को कर्बला में ठंडा किया जाता है।

Hindi News / Photo Gallery / Jaipur / Photo : मोहर्रम के लिए ताजिए तैयार करते कारीगर, ये है शानदार कारीगरी का नमूना

Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.