किरायेदार रखते हैं तो ये खबर पढ़ लें.. इस मकान मालिक के साथ जो हुआ वह किसी के साथ नहीं हो....

मकान मालकिन पुलिस की शरण में पहुंची और केस दर्ज कराया।

By: JAYANT SHARMA

Published: 22 Jul 2021, 12:48 PM IST

जयपुर
किरायेदार को घर संभलाकर अपने रिश्तेदार की शादी में गई मकान मालकिन जब वापस लौटी तो हंगामा मच गया। न तो किरायेदार ही मिला और न ही घर का जेवर, कैश और अन्य कीमती सामान। किरायेदार को कई बार फोन किया तो उसका फोन नंबर भी बंद मिला। काफी तलाश के बाद भी किरायेदार और सामान दोनो ही नहीं मिला तो मकान मालकिन पुलिस की शरण में पहुंची और केस दर्ज कराया।

मामला माणक चैक थाना क्षेत्र का है। पुलिस ने बताया कि ममता शर्मा चैड़ा रास्ता में रहती है और उनके यहां कुछ समय पहले रबियल मलिक किरायेदार आया था। वह अपने परिवार के साथ वहां रह रहा था। पिछले दिनों ममता अपने मामा की पोती की शादी में परिवार समेत गई थी। किरायेदार के कमरे को छोड़कर बाकि पूरे घर को लाॅक किया गया था। लेकिन जब ममता वापस लौटी तो घर के सारे लाॅक टूटे मिले। किरायेदार मलिक भी लापता था।

उसका सामान भी वह ले गया था। आसपास के रहने वाले लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि उसने कमरा खाली कर दिया। ममता ने जब अलमारी में बनी सेफ संभाली तो वह टूटी मिली। वहां से सोने के करीब 175 ग्राम वजनी जेवर चोरी हो गए। जिनकी कीमत साल लाख रुपए से भी ज्यादा थी। साथ ही सेफ में रखे करीब चालीस हजार रुपए भी मलिक अपने साथ ले गया।

दस लाख की गुत्थी सुलझी नहीं, नई केस हो गया
सात लाख के जेवरों की चोरी से सिर्फ दो दिन पहले भी इसी तरह का मामला सामने आया था। जवाहर सर्किल क्षेत्र में रहने वाले एक परिवार ने शादी में जाने से पहले मकान की चाबी पड़ोसी को दी थी। इस दौरान परिवार के एक सदस्य दोपहर में घर पर आए तो देखा घर पर काम करने वाली दो बाईयां काम कर रही हैं। जब अलमारी संभाली तो पाया उसमें रखे करीब दो सौ ग्राम वजनी सोने के जेवर नहीं थे। दस लाख कीमत के इन जेवरों का केस पड़ोसी और दोनो बाईयों के इर्द गिर्द घुम रहा है। इस महीने के तीन सप्ताह के दौरान घरों और दुकानों में चोरी और नकबजनी के चालीस से भी ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। एक भी वारदात में पुलिस आरोपियों तक नहीं पहुंच सकी है।

सेफ में जमा कराएं जेवर, पुलिस को दें सूचना
घर छोड़ने से पहले पुलिस की ओर से जारी की गई गाइडलाइन का पालन करें तो कम हो सकती हैं चोरी की वारदातें। पुलिस का कहना है कि कई दिनों के लिए अगर घर से जा रहे हैं तो पुलिस को सूचना दें ताकि कम से कम एक बार तो गश्त के दौरान संभाला जा सके। आसपास रहने वाले लोगों और घर में काम करने वाले कार्मिकों को चाबी नहीं दें। उसके बाद भी अगर घर में जेवर और कैश रखा है तो उसे किसी रिश्तेदार या बैंक के सेफ में रखकर जाएं।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned