अलमारी में पत्थर के नीचे बना था टैंक, जब खोला तो देखकर पुलिस टीम रह गई दंग

मादक पदार्थ छिपाने की जगह देख रह गया नारकॉटिक्स विभाग दंग

By: मुकेश शर्मा

Published: 04 Jan 2018, 08:23 PM IST

जयपुर . तस्करों ने मादक पदार्थ छिपाने के नए-नए ठिकाने बना रखे हैं। जोधपुर नारकोटिक्स विभाग की टीम ने हरियाणा से गांजा तस्करी कर ला रहे एक तस्कर को जयपुर जिले के कोटपूतली से पीछा कर पाटन में पकड़ा। साथ ही टीम ने गांजा खरीदार को भी दबोच लिया। पकडे गए आरोपितों में अजय यादव निवासी हरियाणा और पाटन निवासी कन्हैयालाल गुप्ता है। इनसे कुल 46 किलो गांजा बरामद किया गया है। आरोपितों से नारकोटिक्स विभाग की टीम अन्य तस्करों के संबंध में भी जानकारी जुटा रही है।

 

तस्कर जिस में गांजा सप्लाई देने आया था, टीम के सदस्यों ने उस मकान की भी तलाशी ली। तलाशी के दौरान टीम को एक अलमारी के फर्श का पत्थर हल्का से ऊंचा लगा। इस पर पत्थर की बारीकी से जांच की तो उसके नीचे एक बड़ा टैंक बना रखा था। टैंक को देख सभी दंग रह गए। टीम ने टैंक से 16 किलो गांजा बरामद किया।

 

लग्जरी कार से आया था

जोधपुर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के सहायक निदेशक वीरेन्द्र कुमार यादव ने बताया कि गुप्चरों से गांजा तस्करी की सूचना मिली थी। हरियाणा से एक लग्जरी कार में तस्करी का गांजा लाया जा रहा है। इस पर टीम रवाना की गई। तस्कर कोटपूतली से नीमकाथाना की तरफ होता हुआ सीकर के पाटन पहुंचा। यहां पर जिस घर में गांजा सप्लाई करना था, वहां गाड़ी रोक दी। तभी टीम ने कार सवार अजय यादव निवासी हरियाणा के रेवाड़ी को पकड़ लिया।

 

कार में 40 किलो से अधिक गांजा बरामद हुआ। जबकि पाटन निवासी कन्हैया लाल गुप्ता के घर और दुकान की तलाशी ली गई। घर की तलाशी के दौरान अलमारी के फर्श के पत्थर के नीचे टैंक मिला। उसमें 16 किलो से अधिक गांजा की मात्रा बरामद होने पर कन्हैयालाल को भी गिरफ्तार कर लिया। अन्य तस्करों के संबंध में गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ की जा रही है।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned