गेहूं के फसल के बीच कर रहा था अफीम की खेती, पुलिस पहुंची तो आरोपी ने हाथ जोड़कर कही ये बात...

गेहूं के फसल के बीच कर रहा था अफीम की खेती, पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो आरोपी ने कही ये बात...

By: abdul bari

Published: 06 Mar 2020, 11:46 PM IST

जालोर.
जालौर पुलिस ने सांचौर थाना क्षेत्र के अंतर्गत बड़ी कार्रवाई करते हुए एक खेत से अफीम के 3017 पौधों को जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने लोगों की नजरो से बचने के लिये अफीम की खेती गेहूं के फसल के बीच बो रखी थी। पुलिस ने पौधे जब्त कर आरोपी को गिरफ्तार किया है।

इस तरह पहुंची टीम ( jalore news )

मुखबिर ने इस मामले की पुलिस को सूचना दी थी। जिसके बाद एसपी हिम्मत अभिलाष के निर्देशन में सांचौर थाना प्रभारी कैलाशदान के निर्देशन में पुलिस टीम रायमलराम पुत्र चेलाराम कलबी निवासी काजा का गोलिया, सांचौर के काश्तशुदा खेत में खड़ी गेहू की फसल में पहुंची, जहा पर एक व्यक्ति मादक पदार्थ अफीम डोडा पोस्त के पौधो की खेती के पास खड़ा मिला। जिसका नाम पता पूछा तो उसने अपना नाम रायमलराम (55) पुत्र चेलाराम कलबी बताया। उसने यह खेती स्वयं की होना बताया। जिस पर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए कुल 3017 अफीम डोडा के पौधों को कब्जे में लेकर आरोपी को गिरफ़्तार किया गया।


पहले भी पकड़ी जा चुकी है खेती

पुलिस की सतर्कता से सांचौर थाना क्षेत्र में अफीम की खेती पकड़ी गई है। यह पहला मौका नहीं है जब जालौर में इस तरह से अवैध मादक पदार्थ की खेती पकड़ी गई हो। पिछले साल भी आकोली क्षेत्र मे भी अफ़ीम की खेती पकडी जा चुकी है। बागरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बड़ी मात्रा में डोडा के पौधे पकड़े थे। उसके बाद भी पुलिस ने कार्रवाई करते हुए भीनमाल के पास क्षेत्र और कोट कास्ता क्षेत्र से भी क्षेत्र से खेतों में तैयार हो रही नशे की खेप पकड़ी थी। जालौर जिले में पिछले 1 साल में डोडा तस्करी के अनेक मामले सामने आए हैं। इन मामलों में आरोपी पकड़े गए हैं।

इनका कहना है...

मामले में आरोपी को पकड़ा गया है डोडा की खेती को लेकर विभिन्न स्तर पर पड़ताल की जा रही है। पूछताछ के बाद अग्रिम कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

हिम्मत अभिलाष
एसपी जालौर

abdul bari
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned