कार के अंदर भरा था ये अवैध सामान, भनक लगते ही बिर्रा पुलिस ने घेराबंदी कर तीन को पकड़ा

कार के अंदर भरा था ये अवैध सामान, भनक लगते ही बिर्रा पुलिस ने घेराबंदी कर तीन को पकड़ा

Shiv Singh | Publish: Sep, 11 2018 01:44:28 PM (IST) Janjgir-Champa, Chhattisgarh, India

- पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उन्हें न्यायालय में पेश किया

बिर्रा. बिर्रा पुलिस ने रविवार रात तीन युवकों को अपने पास ३० किलो अवैध गांजा रखने के आरोपी में गिरफ्तार किया है। आरोपी उड़ीसा राज्य के पासिंग नंबर की कार ओडी १७ डी ९८८७ में गांजा को रखकर तस्करी करने के लिए भटगांव पार कर बिर्रा की ओर आ रहे थे इसी दौरान बिर्रा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर घेराबंदी करके उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उन्हें न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक रिमांड में भेजा गया है।

बिर्रा पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कार क्रमांक ओडी १७ डी ९८८७ में गांजा की तस्करी की जा रही है। कार भटगांव क्रास कर बिर्रा की ओर जा रही है। कार में तीन लोग सवार हैं और उनके कब्जे में बड़ी तादात में गांजा रखा है। बिर्रा थाना प्रभारी ने तुरंत एक टीम तैयार कर आरोपियों की घेराबंदी के लिए भेजा। इस कार्रवाई के लिए खुद बिर्रा थाना प्रभारी कार्तिक चंद गाइन गए और रात में घेराबंदी करने की योजना बनाई, लेकिन पुलिस को देखते ही कार चालक भागने लगा।

Read More : जिला अस्पताल में नहीं मिल रहा बेहतर इलाज, बढ़ती जा रही डॉक्टरों की लापरवाही

पुलिस ने भी कार का पीछा किया और बसंतपुर चौक के पास ओवर टेक कर कार को रोका। इस दौरान कार में ओडीशा निवासी कीर्तन पटेल पिता विष्णु और उसके साथी शान बिहारी पिता लक्ष्मण पटेल लोहर्सी ओडिशा तथा कुलमणि साव पिता धीरसाय देवानपाली ओडिशा बैठे मिले। कार की तलाशी लेने पर उसकी डिक्की में २९ पैकेट गांजा मिला, जिसका वजन कराने पर वह ३० किलो निकला। जब्त किए गए गांजे की कीमत डेढ़ लाख रुपए के करीब बताई जा रही है। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से आठ हजार नगद भी जब्त किया है। पुलिस ने आरोपियों को थाने लाकर उनके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर गांजा और उसकी तस्करी में उपयोग की गई कार को जब्त किया है। उक्त कार्रवाई में बिर्रा थाना प्रभारी के साथ प्रधान आरक्षक किशोर दीवान, आरक्षक लंबोदर सिदार, सहित अन्य का योगदान था।

Ad Block is Banned