scriptGehlot government is afraid of visiting former CM Vasundhara Raje's st | पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के गढ़ में आने से डरती है गहलोत सरकार | Patrika News

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के गढ़ में आने से डरती है गहलोत सरकार

साढ़े तीन साल में सिर्फ पांच मंत्री ही आए

झालावाड़

Published: July 21, 2022 04:03:37 pm

झालावाड़. राज्य में मुख्यमंïत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार का साढ़े तीन साल से ज्यादा का कार्यकाल हो गया। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियां भी तेज हो गई। प्रदेश भर के जिलों में नेताओं और मंत्रियों के दौरे चल रहे हैं, लेकिन गहलोत सरकार के मंत्रियों ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के जिले झालावाड़ से दूरी बना रखी है। यहां साढ़े तीन साल के शासनकाल में केवल पांच मंत्री ही दौरे पर आए हैं, जबकि भाजपा शासन में पूरे प्रदेश की निगाह झालावाड़ पर रहती थी। झालावाड़ जिले में सांसद और सारे विधायक गैर कांग्रेसी है, ऐसे में सरकार के मंत्री भी यहां आने से कतराने लगे हैं। हाड़ौती अंचल से कोटा, बूंदी और बारां जिले का सरकार में प्रतिनिधित्व है।
30 मंत्री, आए सिर्फ 5
सरकार का 30 मंत्रियों का केबिनेट है। इसमें 20 केबिनेट मंत्री तथा दस राज्य मंत्री है। अब तक पांच मंत्री ही जिले के दौरे पर आए हैं। जिला मुख्यालय पर तो तीन ही मंत्रियों ने आकर कामकाज का फीडबैक लिया है। पिछले प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा दौरे पर आए थे, तब कार्यक्रमों ने यह बात रखी थी।
केवल रात्रि विश्राम कर चले गए
उद्योग मंत्री शकुंतला रावत ने पिछले दिनों कोटा दौरे पर आईं थी। कोटा से उज्जैन जाते समय झालावाड़ में रात्रि विश्राम किया था, लेकिन कोई बैठक नहीं ली। जबकि एक माह पहले यहां प्रदेश का सबसे बड़ा धागा उद्योग बंद हो गया। राजस्व मंत्री रामलाल जाट भी जिले में एक बार निजी कार्यक्रम में आए। वे भी रात्रि विश्राम कर लौट गए थे।
मुख्यमंत्री का कार्यक्रम बना, लेकिन आए नहीं
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का दो-तीन बार झालावाड़ जिले में आने का कार्यक्रम बना, लेकिन वे नहीं आ पाए। एक बार प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत डग क्षेत्र में आने का कार्यक्रम तय हुआ था, लेकिन वे कोटा और बूंदी जिले में आकर लौट गए। सचिन पायलट भी उप मुख्यमंत्री रहते हुए यहां नहीं आए।
ये मंत्री आए
. दो साल पहले नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल उन्हेल नागेश्वर में जैन मंदिर में दर्शन कर लौटते वक्त झालावाड़ आए थे और यहां अधिकारियों की बैठक ली थी।
. खान एवं गोपाल मंत्री प्रमोद जैन भाया जिले के प्रभारी मंत्री है। औसतन पन्द्रह दिन में वे जिले का दौरा कर रहे हैं। वे जिले में कांग्रेस को सक्रिय करने में जुटे हैं।
. जल संसाधन मंत्री महेन्द्रसिंह मालवीया ने गत जनवरी में परवन परियोजना में अकावद में बन रहे बांध के निर्माण कार्यों का जायजा लिया था।
. प्रमोद जैन भाया से पहले केबिनेट मंत्री टीकाराम जूली और उनसे पहले रमेश मीणा जिले के प्रभारी मंत्री थे। दोनों प्रभारी मंत्री होने के नाते जिले में आते थे।
इन मुद्दों पर ध्यान देने की जरूरत
. झालावाड़ में अंतरराष्ट्रीय स्तर का एयरपोर्ट बनाया जाना था। पूर्ववर्ती भाजपा शासन में इसका काम शुरू हो गया था। कांग्रेस सरकार ने इस प्रोजेक्ट को ठण्डे बस्ते में डाल दिया।
. कांग्रेस शासन में झालावाड़ सहकारी दुग्ध डेयरी को बंद कर दिया गया है। इससे जिले के दुग्ध उत्पादक पशुपालकों को नुकसान हो रहा है। कोटा से दूध की सप्लाई हो रही है।
. जिले में पूर्ववर्ती शासन में मंजूर की गई पुलियाओं और सड़कों के कार्य अधूरे पड़े हैं। जनता परेशान है।
. झालावाड़ शहर को भारी वाहनों के दबाव से बचाने के लिए पूर्ववर्ती सरकार ने रिंगरोड के प्रोजेक्ट तैयार किया था। डीपीआर भी बन गई थी। अन्य औपचारिकताएं भी पूरी हो गई थी। मौजूदा सरकार ने कोई ध्यान नहीं दिया गया।
. कालीसिंध बांध के दूसरे चरण का कार्य शुरू नहीं हो पाया। इसका काम शुरू होने पर झालावाड़ और कोटा जिले के किसानों को फायदा होगा।
पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के गढ़ में आने से डरती है गहलोत सरकार
पूर्व सीएम वसुंधरा राजे के गढ़ में आने से डरती है गहलोत सरकार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Cabinet Expansion Live Updates: विजय कुमार चौधरी, विजेंद्र यादव, तेज प्रताप सहित इन विधायकों ने ली मंत्री पद की शपथदलित वोट छिटकने का डर: डैमेज कंट्रोल में जुटे सत्ता-संगठन, आधा दर्जन मंत्रियों ने जालोर में डेरा डालाकौन होगा बिहार का नेता प्रतिपक्ष: जेपी नड्डा की मौजूदगी में दिल्ली में बैठक, इन मुद्दों पर भी होगी चर्चाFIFA ने भारतीय फुटबॉल महासंघ को किया सस्पेंड; महिला वर्ल्ड कप की मेजबानी भी छीनीमहागठबंधन सरकार बनते आनंद मोहन को मिली आजादी, पटना में परिजनों से मिले, जेल के बदले सर्किट हाउस में बिताई रातसीएम गहलोत का आज से तीन दिवसीय गुजरात दौरा, चुनावी तैयारियों पर पार्टी नेताओं के साथ होगा संवादतेज हवा और झमाझम बारिश से लखनऊ में ऐतिहासिक भूल भुलैया का गुम्बद गिरापूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि आज, राष्ट्रपति, पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.