भगवान द्वारकाधीश को हक का इंतजार

-द्वारकाधीश मंदिर की 70 बीघा भूमि,12 साल पहले खाते लगाने के आदेश अभी तक नहीं दिया ध्यान

. प्रतिवर्ष विभाग को हो रहा लाखों का नुकसान

By: harisingh gurjar

Published: 18 Oct 2020, 08:26 PM IST

एक्सक्सूसिव
हरिसिंह गुर्जर

झालावाड़.प्रदेश के करौली जिले में मंदिर की जमीन हथियाने के मामले में पुजारी की हत्या करने के बाद मंदिरों की जमीनों का मामला काफी चर्चा में है।
जिले में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया हैए जिसमें मंदिर के नाम की करीब 70 बीघा जमीन पर किसी ओर ने कब्जा कर रखा है।
जिले में देवस्थान विभाग के एक दर्जन मंदिर है। जिनमें से दो ही मंदिरों के नाम भूमि भी है।
जिले में झालरापाटन द्वारकाधीश मंदिर के नाम करीब 170 बीघा भूमि है। इसमें से करीब 70 बीघा अभी दूसरे के कब्जे में है। ऐसे में विभाग को भारी राजस्व का नुकसान हो रहा है। लेकिन राजस्व विभाग व उच्चाधिकारियों का ध्यान नहीं होने से करोड़ों की जमीन अभी भी दूसरे के कब्जे में है। हालंाकि मंदिर की जमीन को कोर्ट के निर्देश पर जिला कलक्टर के माध्यम से मंदिर के खाते करना था। लेकिन 12 साल बाद भी झालरापाटन तहसीलदार खाते नहीं कर सका है। ऐसे में भगवान के साथ ही अन्याय हो रहा है। जिले में झालरापाटन के द्वारकाधीश मंदिर के नाम करीब 169.38 बिस्वा व सुनेल के श्री राम मंदिर के नाम करीब 26 बीघा जमीन हैं। द्वाराकाधीश मंदिर की जमीन मंदिर के नाम हैए वहीं श्रीराम मंदिर सुनेल की भूमि वंशानुगत पुजारियों के अधीन है। जिससे मंदिर की पूजा आदि का खर्चा चलता है।

द्वारकाधीश मंदिर के नाम इतनी जमीने-
हर्बल गार्डन 12 बीघा 14 बिस्सा, एसटीसी के सामने 2बीघा 14 बिस्वा, राजकुंड बीएसएनल ऑफिस के पास 3 बीघा 10 बिस्वा, घांस भीड़ 29 बीघा 2 बीस्वा, बगदर खान 52 बीघा 6 बीस्वा खाने चल रही है। 70 बीघा बगदर में है।

70 बीघा पर है विवाद-
देवस्थान विभाग की द्वारकाधीश मंदिर की करीब 70.02 बीघा भूमि पर रामलाल बनाम ग्यारसीलाल मामला में कोर्ट द्वारा फाइनल निर्णय दे दिया गया है। 8 अप्रेल 2008 को जिला कलक्टर के माध्यम से झालरापाटन तहसीलदार को मंदिर भूमि को वापस द्वारकाधीश मंदिर के नाम खाते करना है। लेकिन अभी तक मंदिर भूमि को मंदिर के नाम नहीं करने से करोड़ों की भूमि कब्जादारी के पास ही है। ऐसे में भगवान को भी न्याय का इंतजार बना हुआ है।

मामले का पता करते हैं-
मंदिर की 70 बीघा भूमि पर कब्जा है तो इस मामले में पता करते हैं जांच करवा कर कार्रवाई करेंगे।
निकया गोहाएनए जिला कलक्टर, झालावाड़।

मंदिर वालों को कल बुलवाकर पता करवाते हैंए इन 12सालों में क्या हुआहै। पता करते हैं क्या मामला है।
योगेश चन्द अग्रवाल, तहसीलदार,झालरापाटन।

70 बीघा जमीन है-
देवस्थान विभाग के अधीन द्वारकाधीश मंदिर पर बगदर गांव में करीब 70 बीघा 2 बीस्वा जमीन है। जिस पर रामलाल बनाम ग्यारसीलाल केस में कोर्ट ने जिला कलक्टर के माध्यम से झालरापाटन तहसीलदार को मंदिर के नाम जमीन करने के निर्देश दिए थेए लेकिन अभी तक हमारे पर जमीन के बारे में कोई निर्देश नहीं आए है।
विक्रमसिंह, मैनेजर, देवस्थान विभाग,झालावाड़

harisingh gurjar
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned