scriptझालावाड़ से दस छात्रों को ले गई थी पुलिस, आठ को छोड़ा | -नीट परीक्षा में डमी के रूप में बैठने का मामला | Patrika News
झालावाड़

झालावाड़ से दस छात्रों को ले गई थी पुलिस, आठ को छोड़ा

-नीट परीक्षा में डमी के रूप में बैठने का मामला

झालावाड़Jun 30, 2024 / 09:05 pm

harisingh gurjar

दो जनों से कर रही मुम्बई पुलिस पूछताछ

-नीट परीक्षा में डमी के रूप में बैठने का मामला

नीट परीक्षा में डमी के रूप में परीक्षा देने के मामले में जांच कर रही दिल्ली और मुम्बई पुलिस पिछले माह झालावाड़ मेडिकल कॉलेज के एक छात्रा समेत दस छात्रों को अपने साथ ले गई थी। इनमें से पूछताछ के बाद आठ जनों को छोड़ दिया, लेकिन दो जनों से मुम्बई पुलिस पूछताछ कर रही है। इस घटनाक्रम को कॉलेज प्रशासन छिपाता रहा, लेकिन राजस्थान पत्रिका के शुक्रवार के अंक में इस बारे समाचार प्रकाशित होने के बाद सारे वाकये का खुलासा हुआ।
कालेज प्रशासन के अनुसार नीट में डमी उम्मीदवार के रूप में बैठने के मामले में दिल्ली और मुम्बई पुलिस एक छात्रा समेत दस छात्रों को पूछताछ के लिए ले गई थी। इनमें से नौ जने मेडिकल कॉलेज कैंपस के बाहर किराए का कमरा लेकर रहते हैं। छात्रा मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल में रहती है।
जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस की टीम नीट परीक्षा के तीन दिन बाद ही 8 मई को झालावाड़ मेडिकल कॉलेज आई थी। यहां कॉलेज के डीन से छात्रों के बारे पूरी जानकारी दिल्ली पुलिस ने आठ छात्रों को पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया। पूछताछ के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। इसके बाद मुंबई पुलिस ने झालावाड़ मेडिकल कॉलेज में एक मेल भेजकर दो अन्य छात्रों के बारे में भी जानकारी मांगी। जानकारी मिलने के बाद मुबंई पुलिस गत 13 जून को झालावाड़ मेडिकल कॉलेज आई और अपने साथ एक मेडिकल छात्र व छात्रा को लेकर गई। दोनों से अभी पूछताछ की जा रही है।
एमबीबीएस फाइनल तक के छात्र

सूत्रों ने बताया कि मुंबई व दिल्ली पुलिस जिन छात्रों को लेकर गई, उनमें 2019 बैच के तीन, 2020 बैच के दो, 2021 बैच का एक और 2022 बैच के चार छात्र शामिल है। इनमें एमबीबीएस सेकेण्ड ईयर से लेकर एमबीबीएस फ ाइनल व इंर्टनशीप के छात्र भी शामिल है। इनमें ज्यादातर राजस्थान के रहने वाले है।
इसलिए लेकर गई थी

सूत्रों ने बताया कि नीट परीक्षा में फर्जीवाड़ा और डमी उम्मीदवार बैठने के मामले में पुलिस ने पूर्व में कुछ छात्रों को पकड़ा था। उन्होनेझालावाड़ मेडिकल कॉलेज के छात्रों के नाम भी बताए है, उसके आधार पर ही पुलिस यहां से दस जनों को लेकर गई थी। इनमें एक छात्रा भी शामिल है। बताया जा रहा है कि डमी उम्मीदवार के रूप में बैठने के बदले छात्रों ने 15-15 लाख रुपए लिए थे।
” मेडिकल कॉलेज से दस छात्रों के बारे में सूचना मांगी गई थी-

कॉलेज ने अपने स्तर पर सारी सूचना उपलब्ध करवा दी। उसके बाद 8 मेडिकोज को दिल्ली पुलिस ने उनके घरों से ही पूछताछ के लिए बुलाया था। पूछताछ के बाद उन्हेछोड़ दिया गया है। इसके बाद 13 जून को एक छात्र व एक छात्रा को मुबंई पुलिस अपने साथ लेकर गई है। अभी वे पुलिस की कस्टडी में है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। इस घटना के बाद जो छात्र अनुपस्थित चल रहे हैं, उसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दे रहे हैं। जो भी निर्देश होगा, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
डॉ.सुभाष जैन, डीन मेडिकल कॉलेज झालावाड़

Hindi News/ Jhalawar / झालावाड़ से दस छात्रों को ले गई थी पुलिस, आठ को छोड़ा

ट्रेंडिंग वीडियो