script कुख्यात बदमाश राशिद कालिया पुलिस मुठभेड़ में ढेर, चर्चित पिंटू सेंगर मर्डर केस में था वांछित | Notorious criminal Rashid Kalia killed in police encounter | Patrika News

कुख्यात बदमाश राशिद कालिया पुलिस मुठभेड़ में ढेर, चर्चित पिंटू सेंगर मर्डर केस में था वांछित

locationझांसीPublished: Nov 18, 2023 10:20:13 am

Submitted by:

Ramnaresh Yadav

झांसी में पुलिस और STF की संयुक्त टीम ने कानपुर में चर्चित पिंटू सेंगर मर्डर केस के वांछित अपराधी को मुठभेड़ में मार गिराया है। मुठभेड़ के दौरान कालिया के सीने में गोली लगने से उसकी मौत हो गई। कालिया पर 1.25 लाख का इनाम घोषित था।

Rashid Kalia death
झांसी में पुलिस मुठभेड़ में राशिद कालिया ढेर।
साल 2009 में हत्या और अपहरण के मामले में वांछित चल रहा 1.25 का इनामिया अपराधी कालिया को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है। कालिया के विरुद्ध जनपद कानपुर नगर के चकेरी थाना पर मु0अ0सं0 425/2020 धारा 147/148/149/307/302/34/120 बी भादवि व 7 सीएलए एक्ट पंजीकृत थे, जिसमें अभियुक्त पर 01 लाख का पुरस्कार घोषित था।
झांसी पुलिस के प्रेस नोट के मुताबिक

18 नवंबर की सुबह करीब 7 बजे थाना मऊरानीपुर क्षेत्र के सितौरा रोड पर STF और मऊरानीपुर पुलिस की संयुक्त टीम तथा शातिर बदमाश के बीच हुई मुठभेड़ हुई। जिसमें हत्या एवं अपहरण के मुकदमों में वांछित शातिर अपराधी राशिद कालिया उर्फ गौड़ा उर्फ बीरू पुत्र सलीम निवासी चिश्ती नगर, थाना चकेरी कानपुर नगर उम्र करीब 45 वर्ष घायल हो गया।

घायल अवस्था में अस्पताल पहुंचाया गया

घायल अवस्था में अपराधी को जीवन रक्षा हेतु सीएचसी मऊरानीपुर ले जाया गया, जहां से उसे मेडिकल कॉलेज झांसी रेफर कर दिया गया।


कानपुर में क्रिमिनल इतिहास
शातिर अपराधी कालिया के विरुद्ध जनपद कानपुर नगर के चकेरी थाना पर मु0अ0सं0 425/2020 धारा 147/148/149/307/302/34/120 बी भादवि व 7 सीएलए एक्ट पंजीकृत है, जिसमें अभियुक्त पर 01 लाख का इनाम घोषित है।


झांसी में 25 हजार का इनाम घोषित था
जनपद झांसी में बदमाश राशिद उपरोक्त के विरुद्ध थाना नवाबाद पर मु0अ0सं0 261/2009 धारा 364 ए/302/201 भादवि व 12/14 यूपीडीए एक्ट पंजीकृत है। इसके अलावा झांसी में उसपर 25 हजार रुपए का इनाम भी घोषित था।

हत्या की लिए था सुपारी

झांसी पुलिस के मुताबिक कालिया मऊरानीपुर थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति की हत्या की सुपारी लिए थे और वह हत्या करने जा रहा था। एसटीएफ के पास इसकी सूचना थी। जिसके चलते उसकी घेराबंदी की गई।

ट्रेंडिंग वीडियो