परिवार कल्याण विभाग में 1171 पदाें पर निकली वैकेंसी, करें आवेदन

परिवार कल्याण विभाग में 1171 पदाें पर निकली वैकेंसी, करें आवेदन

Yuvraj Singh Jadon | Publish: Sep, 27 2018 04:29:25 PM (IST) | Updated: Sep, 27 2018 04:29:26 PM (IST) जॉब्स

लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग ने सिविल असिस्टेंट सर्जन के 1171 रिक्त पदाें पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं

लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग, आंध्र प्रदेश ने सिविल असिस्टेंट सर्जन के 1171 रिक्त पदाें पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इच्छुक व योग्य उम्मीदवार 25 अक्टूबर 2018 तक आॅनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन आैर अन्य जानकारी के लिए नीचे दिए गए अधिसूचना विवरण् लिंक पर क्लिक करें।

लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग, आंध्र प्रदेश में रिक्त पदाें का विवरणः
सिविल असिस्टेंट सर्जन, Civil Assistant Surgeon - 1171 पद

वेतनमानः 40270 – 93780 रूपए।

लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग, आंध्र प्रदेश में सिविल असिस्टेंट सर्जन के रिक्त पदाें पर आवेदन करने के लिए शैक्षणिक योग्यताः
- एमबीबीएस डिग्री या समकक्ष।
योग्यता संबंधी अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए अधिसूचना विवरण लिंक पर क्लिक करें।

आयु सीमाः 42 साल


चयन प्रक्रियाः आवेदकों का चयन इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा।

आवेदन कैसें करेंः
इच्छुक व योग्य उम्मीदवार निर्धारित प्रारूप में अपना आवेदन पत्र इस पतें पर भेजें - निदेशक, लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, गोलापुडी, विजयवाड़ा।

आवेदन शुल्कः 500/- रूपए।

 

महत्वपूर्ण तिथिः
आवेदन की अंतिम तिथिः25 अक्टूबर 2018

 

Director of Public Health & Family Welfare, Andhra Pradesh recruitment
लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग, आंध्र प्रदेश ने सिविल असिस्टेंट सर्जन के 1171 रिक्त पदाें पर भर्ती के लिए विस्तृत अधिसूचना यहां क्लिक करें।

लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग का परिचयः

दिनांक 7 अगस्‍त, 2014 की असाधारण राजपत्र अधिसूचना भाग-।। खंड-3 उप-खंड (ii) द्वारा एड्स नियंत्रण विभाग का स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण में विलय कर दिया गया है तथा अब यह राष्‍ट्रीय एडस नियंत्रण संगठन (नाको) के नाम से जाना जाएगा। मंत्रिमंडल सचिवालय की दिनांक 8 दिसंबर, 2014 की अधिसूचना सं. 1/21/35/2014–मंत्रि. द्वारा कार्य आबंटन नियम में किए गए संशोधन के अनुसार आयुष विभाग को आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्‍सा, यूनानी, सिद्ध तथा होम्‍योपैथी मंत्रालय (आयुष) बनाया गया है जिसके अंतर्गत आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्‍सा, यूनानी, सिद्ध और होम्‍योपैथी प्रणाली की शिक्षा और अनुसंधान का विकास करने पर विशेष बल दिया जाएगा। इस प्रकार, अब स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय के निम्‍नलिखित दो विभाग होंगे, और प्रत्‍येक के अध्‍यक्ष भारत सरकार के सचिव होंगे।

स्‍वास्‍थ्‍य सेवा महानिदेशालय (डीजीएचएस) स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय का एक संबद्ध कार्यालय है और इसके अधीनस्‍थ कार्यालय पूरे देश में स्‍थित हैं। डीजीएचएस सभी चिकित्‍सा और जन स्‍वास्‍थ्‍य मामलों पर तकनीकी सलाह प्रदान करता है और यह विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का कार्यान्‍वयन करता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned