SSC ने दिल्ली पुलिस, CAPFs में एसआई और CISF में एएसआई पदों की वेकेंसी डिटेल्स जारी की

कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police), CAPFs और सीआईएसएफ भर्ती 2018 (CISF 2018 recruitment) के लिए क्रमश: पुलिस निरीक्षक और सहायक पुलिस निरीक्षक पदों के लिए वेेकेंसी डिटेल्स अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दी है। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत SI (GD), SI (Exe.) male and SI (Exe.) female के कुल 1 हजार 578 पदों को भरेगा।

Jamil Ahmed Khan

December, 0407:24 PM

कर्मचारी चयन आयोग (Staff Selection Commission) ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police), CAPFs और सीआईएसएफ भर्ती 2018 (CISF 2018 recruitment) के लिए क्रमश: पुलिस निरीक्षक और सहायक पुलिस निरीक्षक पदों के लिए वेेकेंसी डिटेल्स अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दी है। इस भर्ती प्रक्रिया के तहत SI (GD), SI (Exe.) male and SI (Exe.) female के कुल 1 हजार 578 पदों को भरेगा। रिपोर्टों के अनुसार, इन पदों के लिए कुल 8 लाख 20 हजार उम्मीदवारों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। इनमें से 2 लाख 32 हजार 514 उम्मीदवार tier-I में शामिल हुए थे।

Paper I 12 से 16 मार्च, 2019 तक आयोजित हुआ था, जबकि Paper II 27 सितंबर, 2019 को आयोजित हुआ था। PET/PST परीक्षा 22 से 24 जुलाई, 2019 तक चली थी।

 

उप्र के हर मंडल में उच्च क्षेत्रीय शिक्षा अधिकारी की तैनाती की योजना
उत्तर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को और मजबूत करने के लिए प्रदेश सरकार अब प्रदेश के हर मंडल में क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी तैनात करने की योजना बना रही है। क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी वर्तमान में महज आठ ही जिलों में नियुक्त हैं। इस कारण कई शिक्षा अधिकारियों पर अनेक जिलों के अतिरिक्त प्रभार हैं। ऐसे में न तो कॉलेजों का निरीक्षण हो पर रहा है और न ही अवैध कोचिंग संस्थानों पर नकेल कस पा रही है। इसी कारण सरकार एक मंडल पर एक उच्च शिक्षा अधिकारी तैनात करने पर विचार कर रही है।

शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने बताया, पिछले दिनों उच्च शिक्षा मंत्री नीलिमा कटियार ने अधिकारियों संग एक बैठक की थी, जिसमें यह मुद्दा उठा था। निजी विश्वविद्यालय और महाविद्यालय तेजी से बढ़ रहे हैं। अधिकारियों की संख्या कम होने के कारण इसकी उचित जांच नहीं हो पा रही है। वहीं निजी विद्यालय और कोचिंग संस्थान भी बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में हर मंडल में कम से कम एक उच्च शिक्षा अधिकारी नियुक्त किए जाने की आवश्यकता है।

उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में लखनऊ, आगरा, बरेली, झांसी, गोरखपुर, वाराणसी, मेरठ, कानपुर में ही उच्च शिक्षा अधिकारी तैनात हैं। पहले से भी कई जिलों का प्रभार होने के कारण इनके पास काम का बोझ अधिक है। ऐसे में निष्पक्षता पूर्वक हर कार्य सुनिश्चित करने के लिए विभाग हर मंडल पर उच्च शिक्षा अधिकारी तैनात करने पर विचार कर रहा है।

 

जमील खान
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned