मानसून की आंख मिचौली से किसान मायूस

- अभी तक जिले में पूरी बुवाई नहीं हुई
- 12.55 लाख हेक्टेयर लक्ष्य

By: Amit Dave

Published: 21 Jul 2021, 11:27 PM IST

जोधपुर।
जिले में मानूसन की आंख मिचौली किसानों पर भारी पडऩे लगी लगी है। जिले में टुकड़ों में हो रही बारिश से खरीफ सीजन की बुवाई प्रभावित हो रही है। कई जगहों पर बादल बरस रहे है तो कई जगहों पर किसानों को मेघ बरसने का इंतजार है। इस वजह से जिले में खरीफ की बुवाई पूर्ण रूप से नहीं हो पाई है। क्षेत्र में मानूसन पूर्व की बरसात से बोई गई फ सलें जलने लगी है, वहीं अधिकतर क्षेत्र में बुवाई नहीं हो पाई है। जिले के बाप, आउ व बालेसर क्षेत्र में हाल ही में बरसात हुई है लेकिन अभी भी बावड़ी, भोपालगढ़़, ओसियां आदि तहसीलों में इस मानूसन सीजऩ की बरसात का अभी भी इंतजार है। बिलाड़ा, पीपाड़ क्षेत्र में मानूसन पूर्व की बरसात से बाजरा व मूंग की बिजाई की थी लेकिन दुबारा बारिश नहीं होने से अधिकतर फ सलें अंकुरित होते ही जल गई।
-
गाजर की बुवाई टाल रहे है किसान
जिले के सिंचित क्षेत्र में मूंग व मूंगफली की बिजाई हुई है। वहीं गाजर की बुवाई की तैयारी चल रही है लेकिन बरसात नहीं होने व तापमान ज्यादा होने के कारण किसान गाजर की बुवाई को टाल रहे है।
--
खरीफ सीजन का बुवाई लक्ष्य
फ सल - बुवाई लक्ष्य
बाजरा - 4.00
मूंग - 3.02
मूंगफ ली - 1.56
कपास - 0.65
ज्वार - 0.40
तिल - 0.28
मोठ - 0.90
अरंडी - 0.23
ग्वार - 0.35
अन्य - 0.16
---------------------------------------
कुल - 12.55
-----------------------------
जिले में समुचित बारिश नहीं होने से किसान बारानी क्षेत्र में बुवाई नहीं कर पाए है। वहीं सिंचित क्षेत्र में अनुमानत कम बुवाई हुई है।
रामनारायण जांगू, वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष
भारतीय किसान संघ, जोधपुर

Amit Dave Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned