scriptBikrukand 2 Years who All providing ration to the families of criminal | बिकरूकांडः आखिर कौन है जो रहस्यमयी गाड़ियों से अपराधियों के परिवार को पहुंचा रहा है राशन | Patrika News

बिकरूकांडः आखिर कौन है जो रहस्यमयी गाड़ियों से अपराधियों के परिवार को पहुंचा रहा है राशन

Bikarukand Kanpur: बिकरू कांड से प्रदेश ही नही पूरे देश में दहशत फैलने वाले अपराधियों के परिवार वालो को आज भी खूफिया तरीके खाने पीने और राशन मुहैया हो रहा है। लेकिन प्रश्न ये है कि कौन लोग हैं जो अपराधियों को पनपने में मदद कर रहे। पुलिस भी पता नहीं लगा पा रही।

कानपुर

Updated: July 01, 2022 11:57:34 pm

बिकरू में कुछ परिवार ऐसे भी है जिनके परिवार के लोग विकास दुबे के गुर्गे रहे। वह या तो एनकाउंटर में मारे गए या फिर पुलिस ने उन्हें जेल भेज दिया। ऐसे दस परिवारों में या तो वृद्ध या फिर सिर्फ महिलाएं रह गई है। घर पर अकेला होने के बावजूद उन्हें जीवन यापन में कोई तकलीफ नहीं हो रही। कारण है दो कारे जिसमें उनके मददगार महीने में दो बार बिकरू पहुंचते हैं। उन परिवारों की आर्थिक मदद के अलावा घरेलू सामान भरने में मदद करते हैं और फिर वापस लौट जाते हैं। पुलिस को इसकी जानकारी है मगर गाड़ियां कौन सी है और उसमें किसके लोग आते हैं पुलिस इसका पता नहीं कर सकी है।
Bikrukand 2 Years who All providing ration to the families of criminal
Bikrukand 2 Years who All providing ration to the families of criminal
एनकाउंटर और जेल के बाद भी मदद

विकास दुबे का मुंह बोला मामा प्रेमप्रकाश पाण्डेय एनकाउंटर में मारा गया था। उसका बेटा शशिकांत पाण्डेय इसी मामले में जेल में बंद है। घर में अकेले प्रेमप्रकाश पाण्डेय की पत्नी सुषमा बची है। इसी तरह एनकाउंटर में मारे गए अमर दुबे की दादी ज्ञानवती अकेले रह रही है। जेल गए आरोपित उमाकांत शुक्ला के घर में दो बेटियां और बीवी रह रही है। बालगोविंद के परिवार में भी सिर्फ बुजुर्ग माता पिता रह गए हैं। यह ऐसे परिवार है जहां बिना मदद के लोग खुद जीवन यापन नहीं कर सकते।
यह भी पढ़ें

फिर ठुमका लगाते हुए ‘खाकी’ का वीडियो हुआ वायरल, एक साथ तीन महिला सिपाही सस्पेंड

गाड़ियों से आते हैं और राशन पैसा दे जाते हैं

ग्रामीणों के मुताबिक इन्हीं परिवारों की मदद के लिए दो गाड़ियां महीने में दो बार आती है। एक उन्नाव नम्बर की गाड़ी है और दूसरी लखनऊ। वह भोर सुबह जल्दी आती है। सभी परिवारों के घर पर जाती है। वहां पर राशन का सामान और आर्थिक मदद करती है और सूरज उगने से पहले गांव से निकल जाती है। महीने की शुरुआत के बाद 17-20 तारीख के बीच में दोनों गाड़ियों का आना होता है।
क्या बोली पुलिस

इंस्पेक्टर चौबेपुर कृष्ण मोहन राय ने कहा ग्रामीणों से ही दो गाड़ियों के आने और मदद करने की जानकारी मिली थी। इसपर पुलिस फोर्स को तैनात भी किया गया था मगर कोई इस तरह के वाहन सामने नहीं आए हैं। न ही यह पता चल पाया है कि वह कौन लोग हैं और क्या मदद करके जाते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बीजेपी नेता श्रीकांत त्यागी पर बड़ा एक्शन, बुलडोजर से ढहाया जा रहा अवैध निर्माण, मिली लोकेशनMaharashtra Coal Scam: दिल्ली कोर्ट का फैसला- पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता को 3 और कंपनी डायरेक्टर को 4 साल की जेलMaharashtra: ‘डबल इंजन’ की सरकार का आम जनता को होगा डबल फायदा, पीएम मोदी ने सीएम शिंदे से किया यह वादाElectricity Amendment Bill: बिजली संशोधन विधेयक आज लोकसभा में हो सकता है पेश, पावर सेक्टर के कर्मचारियों के बाद CM मान ने भी किया विरोधबिहार में सियासी उलटफेर की आंशका, CM नीतीश कुमार ने सोनिया गांधी से की बात, सभी विधायकों को बुलाया पटनावेंकैया नायडू को विदाई में पीएम मोदी भावुक, कहा - 'आपके साथ काम करना हमारा सौभाग्य'Bihar Politics: राजद और JDU मिल जाए तो बिहार में आराम से बन सकती है सरकार, जानिए क्या है आंकड़ेCongress: अध्यक्ष बनने के लिए राहुल ने अब तक नहीं की ‘हां’, क्या गहलोत पर दांव खेलेगी कांग्रेस?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.