आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक ने किया दावा, 20 मई के बाद कमजोर पड़ेगी कोरोना की दूसरी लहर

आईआईटी के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं पद्मश्री प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने दावा किया है कि 20 मई के बाद कोरोना से राहत मिलने की उम्मीद है।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 04 May 2021, 01:20 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. यूपी में कोरोना (Corona Virus) की दूसरी लहर के प्रकोप से संक्रमण चरम पर पहुंच चुका है। मगर अब कानपुर में कोरोना (Corona Peak Time) की दूसरी लहर से लोगों को राहत मिलने का समय आ गया है। पीक टाइम समाप्ति के बाद अब धीरे-धीरे संक्रमण में गिरावट आएगी। आईआईटी (IIT Kanpur) के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं पद्मश्री प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने दावा किया है कि 20 मई के बाद कोरोना से राहत मिलने की उम्मीद है। काफी शोध करने के बाद उन्होंने कंप्यूटिंग मॉडल (Computing Model) सूत्र तैयार किया है, जिसमें गणितीय विश्लेषण के आधार पर यह दावा किया है। उन्होंने कानपुर सहित लखनऊ, प्रयागराज व वाराणसी सहित अन्य शहरों का विश्लेषण भी किया है। इस मॉडल के मुताबिक लखनऊ, प्रयागराज और वाराणसी शहरों में भी कोरोना का पीक आ चुका है, अब गिरावट आएगी।

प्रो. मणींद्र अग्रवाल के कंप्यूटिंग मॉडल के अनुरूप अभी तक मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा था और मौतें भी अधिक हो रही थी। उन्होंने कई राज्यों के डाटा के आधार पर यह मॉडल तैयार किया है। इस मॉडल के मुताबिक हर राज्य की स्थिति अलग है। उन्होंने पिछले साल के केस और कोरोना की दूसरी लहर के आंकड़े लेकर मॉडल तैयार किया है। मॉडल के अनुसार कानपुर में 28 अप्रैल तक पीक आना था, इसके बाद गिरावट दर्ज होनी थी। वर्तमान आंकड़ों के मुताबिक 30 अप्रैल तक सबसे अधिक केस रहे, इसके बाद से लगातार केसों में गिरावट आ रही है। प्रो. मणींद्र ने कहा कि विश्लेषणात्मक रिपोर्ट और एक्चुअल रिपोर्ट में एक-दो दिन का फर्क बेहद मामूली होता है। हालांकि अभी कई राज्यों में कोरोना संक्रमण का पीक आना बाकी है।

अलग-अलग शहरों का पीक टाइम

शहर, पीक टाइम, कब असर कम दिखेगा

कानपुर 28-30 अप्रैल 20 मई के बाद
लखनऊ 28 अप्रैल 20 मई के बाद
प्रयागराज 28 अप्रै 20 मई के बाद
वाराणसी 26-28 अप्रैल 20 मई के बाद

कोलकाता 12 मई 12 मई के बाद
पटना 24-26 अप्रैल 1 जून के आसपास
मुंबई 20-22 अप्रैल 1 जून के आसपास
रांची 24 अप्रैल 1 जून के बाद
सूरत 10 मई 21 जून के आसपास
नोएडा 8-12 मई 12 मई के बाद धीरे-धीरे

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned