सपा के इस विधायक से ऊब चुकी है जनता, चाहती है अपराध और अपराधियों का खत्मा

सपा के इस विधायक से ऊब चुकी है जनता, चाहती है अपराध और अपराधियों का खत्मा

Abhishek Gupta | Publish: Sep, 03 2016 06:59:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सीसामऊ विधानसभा के कई दर्जन मोहल्लों में हर रोज बड़ी-बड़ी वारदातें होती हैं। पब्लिक शाम होते ही अपने-अपने घरों में कैद हो जाती है।

विनोद निगम
कानपुर.
सीसामऊ विधानसभा से लगातार दो बार से सपा के टिकट पर विधायक इरफान सोलंकी को 2017 में विधानसभा में पहुंचने के लिए इस बार काटों से जूझना पड़ सकता है। सीसामऊ विधानसभा के कई दर्जन मोहल्लों में हर रोज बड़ी-बड़ी वारदातें होती हैं। पब्लिक शाम होते ही अपने-अपने घरों में कैद हो जाती है। नेहरू नगर 2ए/120 निवासी राजेंद्र कुमार ने सीसामऊ विधानसभा के चमनगंज, बेगमगंज, नई सडक, अनवरगंज, लाटूस रोड, खटिकियाना सहित एक दर्जन से ज्यादा मोहल्लों में नशीले पदार्थ की बिक्री चरम पर है। अगर इस पर नेता व प्रशासन रोक लगाएं तो कुछ हद तक अपराधों पर कमी आ सकती है। नेहरूनगर स्थित डॉक्टर राजेश रस्तोगी ने कहा कि सीसामऊ विधानसभा में अपराध इस वक्त चरम पर है। युवा नशीले पदार्थ का सेवन कर रहे हैं, अगर इसकी बिक्री पर सही तरह से रोक लगाई जा सके तो कुछ हद तक लूट व अन्य वारदात रूक सकती हैं।

कई शार्प शूटर का ठिकना सीसामऊ

चमनगंज, बेगमगंज, नई सडक, अनवरगंज, लाटूस रोड, खटिकियाना सहित एक दर्जन से ज्यादा मोहल्लों में यूपी के मोस्ट वांटेड अपराधियों की शरणस्थली है। इन इलाकों में हर रोज वर्चस्व को लेकर बम और फायरिंग आम बात हो गई है। डी.2 गैंग, डी.3, डी.4, डी.5 और डी 39 गैंग के सरगना यहीं से बैठकर गैर कानूनी काम को अंजाम देते थे। अभी भी इन इलाकों में डी 39 गैंग सक्रिय है और उसकी कमान शार्प शूटर रईस बनारसी के हाथों में है। इन इलाकों पर ड्रग, अफीम, हिरोइन, कच्ची शराब, सहित अन्य गैग कानूनी काम बदस्तूर जारी हैं। मोनू पहाड़ी माती जेल में बैठकर चमनगंज और बेकमगंज से अपने गैर कानूनी धंधे चला रहा है।

नशीले पदार्थ का बना हब

सीसामऊ विधानसभा 213 की कुल आबादी 1,33957 के आसपास है। 2012 में सपा से इरफान सोलंकी लगभग 23 हजार मतों से जीते थे। वहीं भाजपा के हनुमान मिश्रा 33883 वोट पाकर दूसरे स्थान पर रहे थे, अन्य दलों के प्रत्याशी अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए थे। जकियापार्क निवासी मोइन अली ने बताया कि सीसामऊ विधानसभा के कई इलाकों में नशीले पदार्थों का कारोबार बदस्तूर जारी है। वहीं फूलमति निवासी राजकिशोर ने बताया कि शाम ढलते ही युवा गलियों में ड्रग्स का इस्तमाल कंरते हैं और अगर इस समय कोई थी आमशहरी दिख जाए तो उसको लूट लेते हैं।

तो इरफान को गवानी पड़ सकती है कुर्सी

लेगों का मानना है कि यहां पर जो अवैध रूप से सारे गलत कार्य हो रहे हैं इसके पीछे कहीं न कहीं विधायक इरफान सोलंकी का हाथ है। पब्लिक ने इरफान को हराने के लिए उनके खिलाफ सड़क पर उतर कर बिगुल फूंक दिया है। इरफान को राजनीति विरासत में पिता के इंतकाल के बाद मिली, लेकिन उन्होंने जनता की समस्याओं का सही ढंग से निराकरण नहीं किया, जिससे जनता इसबार बदलाव का मन बना चुकी है। सीसामऊ विधानसभा के मतदाताओं पर गौर करें तो यहां पर 60 फीसदी मुस्लिम हैं, जिसमें 90 फीसदी युवा बेरोजगार हैं। सीसामऊ विधानसभा के लोगों ने 2017 के चुनाव में दल के दलदल पर अपना मत देने के मूड में नहीं है। तकियापार्क निवासी राजेश्वर श्रीवास्तव, महमूद अली, अशरफ खान, रमेश बाल्मीकि जो जनहित समिति चलाते हैं, ने कहा कि अगले साल होने वाले चुनाव में अपराध और अपराधी के साथ नशीले पदार्थ की रोक का जो वादा करेगा, उसे ही अपना मत देंगे।

अपराध के चलते रूका विकास

14 हजार की आबादी बेकनगंज मोहल्ले में 80 फीसदी मुस्लिम आबादी रहती है। इसके साथ ही 10 फीसदी दलित, 10 सामान्य व अन्य पिछड़ा वर्ग के लोग रहते हैं। पूर्व पार्षद राजकिशोर ने बताया कि 1990 के पहले यहां पर सड़कें, नालियां और पानी की सप्लाई समय से हुआ करती थी, लेकिन दंगे के बाद हालात बदल गए । इरफान के पिता यहां से विधायक चुने गए। उनके कार्यकाल के दौरान सभी समुदाय के लोगों की समस्याओं का निवारण होता था। लेकिन इरफान के आने के बाद हालात बदल गए। फूलमती गली से दबंगों ने हिन्दू परिवारों को जबरन डरा-धमकाकर भगाया गया। दो साल से फूलमती मोहल्ले में कभी-कभार ही सफाई कर्मी नजर आते हैं। लोग अपने घरों के सामने की साफ-सफाई खुद करते हैं। फूलमती निवासी राशिद भाई, परवाना, महबूब भाई का कहना था कि 2017 में इरफान सोलंकी की यहां के लोगों ने साइकिल पंचर करने की ठान ली है। कांग्रेस, बसपा से कोई अच्छा कंडीडेट आता है तो उसे ही इस बार हम लोग अपना मत देंगे।

सिर्फ मुस्लिमों को गया ठगा

डॉक्टर महमूद रहमानी ने बताया कि जब से देश आजाद हुआ, तब से सियासतदानों ने मुस्लिम समुदाय के साथ भेदभाव किया। कभी कांग्रेस ने तो कभी सपा, बसपा और भाजपा ने इस वर्ग को छला। अगर मुस्लिम समुदाय का विकास देखना हो तो बजरिया, चमनगंज, लाटूस रोड में दिख जाएगा। जहां पर छोटे-छोटे बच्चे हाथ पर बाइकों के ठीक करने वाले औजार थामे दिख जाएंगे। साथ ही नशीले पदार्थ की पुड़िया हाथों में होगी। वहीं तकिया पार्क निवासी व समाजसेवी अजगर अली ने बताया कि सीसामऊ विधानसभा में 27 साल से गुलामी की जंजीरों में जकड़ी है। सपा और भाजपा यहां वोटों का ध्रुवीकरण कर अपनी राजनीति चमका रहे हैं, जबकि हकीकत में सड़क, पानी, स्वास्थ्य, शिक्षा, बेरोजगारी और अपराध बड़े हैं। पेशे से वकील बिलाल बेग, पूर्व सैनिक दीपक राजपूत, महाबीर सिंह निवासी खटिकियाना का कहना था कि 2017 विधानसभा चुनाव में जो इन 6 मुद्दों पर बात करेगा, मत उसे ही मिलेगा।

बोले जनप्रतिनिध, करेंगे विकास, रोकेंगे अपराध

सीसामऊ के सपा विधायक इरफान सोलंकी ने बताया कि हमने 4 साल के कार्यकाल के दौरान पांच दर्जन नई सड़कों का निर्माण कराया। क्षेत्र से नशीले पदार्थों की बिक्री पर पूरी तरह से रोक लगवाया है। कई स्कूलों का निर्माण, हैंडपंप लगवाए, रोजगार के साधन विकसित किए। हम 2017 में इन्हीं मुद्दों को लेकर जनता के बीच जाएंगे और हमें उम्मीद है कि पब्लिक तीसरी बार सेवा का मौका देगी। वहीं भाजपा के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने कहा कि इरफान ने सिर्फ अपना और अपने लोगों का विकास कराया है। क्षेत्र में लोग डर के साए में जीने को विवश हैं। गुंडों के हाथों पर विधायकी है। वहीं कांग्रेस जिलाध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री ने बताया कि अगले साल होने वाले चुनाव में सीसामऊ विधानसभा से कांग्रेस का उम्मदीवार जीतेगा। लोग इरफान के काम-काज से खासे नाराज हैं।
Ad Block is Banned