गरीबों के हक का राशन डकार गया डीलर

गरीबों के हक का राशन डकार गया डीलर
गरीबों के हक का राशन डकार गया डीलर

Anil dattatrey | Updated: 20 Sep 2019, 11:28:09 PM (IST) Karauli, Karauli, Rajasthan, India

Black marketing of 4571 liters of kerosene, 370 quintals of wheat and 232 kg of sugar. Enforcement inspector of Food and Civil Supplies Department lodged report.

4571 लीटर कैरोसीन, 370 क्विन्टल गेहूं व 232 किलो चीनी की कालाबाजारी
-खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के प्रवर्तन निरीक्षक ने दर्ज कराई रिपोर्ट

हिण्डौनसिटी. सरकार भले ही आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को राहत देने के लिए राशन वितरण प्रणाली को पारदर्शी बनाने पर जोर दे रही है, लेकिन जिन डीलरों को राशन सामग्री के वितरण की जिम्मेदारी दी गई है, वे गरीबों का हक डकारने में लगे हंै। जी, हां ऐसा ही एक मामला हिण्डौन सदर थाने पर शुक्रवार को सामने आया है।

जिसमें करसौली ग्राम पंचायत के बाढ़ गांव के राशन डीलर ने आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को वितरित किए जाने वाले 370 क्विन्टल गेहूं, 232 किलोग्राम चीनी और 4571 लीटर कैरोसीन को बाजार में बेच दिया। रसद विभाग की जांच में कालाबाजारी का बड़ा खुलासा होने पर प्रवर्तन निरीक्षक जगदीश प्रसाद शर्मा ने राशन डीलर करन सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।


पुलिस के अनुसार प्रवर्तन निरीक्षक शर्मा ने प्राथमिकी में बताया कि बाढ़ गांव के एक तिहाई भाग के वितरण केन्द्र के राशन डीलर करनसिंह ने राशन वितरण सामग्री के वितरण में घोर अनियमितता की है। इस पर डीलर के अलॉटमेन्ट, स्टॉक व वितरण की सघनता से जांच की गई। इसमें 369 क्विन्टल 79 किलोग्राम गेहूं, 232 किलो चीनी व 4 हजार 571 जीटर केरोसीन की कालाबाजारी होना पाया गया है। जांच में गड़बडी सामने आने के बाद डीलर के खिलाफ विभागीय स्तर पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है, साथ ही गबन के मामले में ईसी एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned