script केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने जिले में किए दो वर्चुअल लोकार्पण, अधिकारियों को पता नहीं | Karauli District Union Health Minister Munsukh Mandaviya Primary Health Mother Child Care Unit Mncu | Patrika News

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने जिले में किए दो वर्चुअल लोकार्पण, अधिकारियों को पता नहीं

locationकरौलीPublished: Feb 07, 2024 03:39:14 pm

Submitted by:

Omprakash Dhaka

Rajasthan News : केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मुनसुख मांडविया ने गत दिनों जिले में एक प्राथमिक स्वास्थ्य एवं मदर चाइल्ड केयर यूनिट का वर्चुअल लोकार्पण किया, लेकिन जिले के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इसका पता तक नहीं है।

health_mother_child_care.jpg

Karauli News : केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मुनसुख मांडविया ने गत दिनों जिले में एक प्राथमिक स्वास्थ्य एवं मदर चाइल्ड केयर यूनिट का वर्चुअल लोकार्पण किया, लेकिन जिले के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को इसका पता तक नहीं है। दोनों स्थानों पर निर्माणाधीन भवनों पर न तो लोकार्पण की शिलापट्टिका लगाई है। न उस दौरान चिकित्सा विभाग की ओर से स्थानीय स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किया गया।

दरअसल शनिवार को जोधपुर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के दीक्षांत समारोह में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया आए थे। समारोह में केन्द्रीय मंत्री ने प्रदेश में 241 करोड़ से अधिक के चिकित्सा संबंधी कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया था। इसके तहत हिण्डौन जिला चिकित्सालय में मदर एवं चाइल्ड केयर यूनिट तथा सपोटरा के गांव दौलतपुरा में प्राथमिक चिकित्सालय भवन का भी लोकार्पण किया गया। लेकिन अभी निर्माण कार्य पूर्ण होने व यूनिट शुरू होने में करीब एक माह का वक्त लगेगा। चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. पुष्पेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि एमएनसी यूनिट के लोकार्पण होने की जानकारी नहीं है। न ही विभागीय स्तर पर सूचना मिली।

70 लाख की लागत से बनी यूनिट


शहर के जिला चिकित्सालय में नवजातों को निर्मित मदर न्यूबोर्न केयर यूनिट (एमएनसीयू) में और सघन चिकित्सा मिलेगी। इसके लिए मातृ- शिशु इकाई में 70 लाख रुपए की लागत से एमएनसीयू तैयार की गई है। जिसमें नवजात के साथ उसकी मां (प्रसूता) भी भर्ती रहेगी। चिकित्सालय सूत्रों के अनुसार नवजात सघन चिकित्सा उन्नयन के लिए वर्ष 2022 में 70 लाख रुपए की स्वीकृत जारी की थी। इससे चिकित्सालय की पहली मंजिल पर 20 पलंग क्षमता की एमएनसीयू यूनिट का निर्माण किया गया। है। वर्तमान में अस्पताल के एसएनसीयू की क्षमता 12 पलंग की है। एमएनसीयू बनने से 20 नवजातों को भर्ती किया जा सकेगा। खास बात यह है कि एमएनएसयू में नवजात की भर्ती क्रेडल (बैड) पास एक अन्य पलंग पर प्रसूता भी रहेगी। जो नवजात की देखरेख कर सकेगी।

यह भी पढ़ें

बेटी को हॉस्टल छोड़ने जा रहे पिता की हादसे में मौत

एक नजर में एमएनसीयू -


- 70 लाख की लागत से निर्माण
- 20 पलंग की क्षमता
- 2022 में स्वीकृत हुआ
- 12 पलंग हैं एसएनसीयू में

दौलतपुरा पीएचसी भवन का निर्माण अधूरा


सपोटरा उपखंड के दौलतपुरा पंचायत में बनाए गए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का भी वर्चुअल लोकार्पण किया गया, जिसका यहां के विभागीय अधिकारियों को इसका पता नहीं है। सपोटरा के दौलतपुरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन निर्माण के लिए राज्य सरकार द्वारा बजट जारी किया था। जिस पर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के लिए नवीन भवन का निर्माण कराया जा रहा है। अभी भवन का 70 प्रतिशत कार्य पूरा हो सका है। नए भवन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को स्थानांतरित होने में अभी वक्त लगेगा। इधर ब्लॉक चिकित्साधिकारी डॉ धर्मेन्द्र गुर्जर का कहना है कि दौलतपुरा के नवीन पीएचसी भवन के वर्चुअल लोकार्पण की जानकारी नहीं है। ना ही विभाग की ओर से पूर्व मे इस संदर्भ में कोई सूचना मिली है।

इनका कहना है


एम्स के दीक्षांत समारोह में जिले में चिकित्सा भवनों के वर्चुअल लोकार्पण होने की जानकारी नहीं है। इस बारे में विभागीय उच्चाधिकारियों से भी सूचना नहीं थी।
- डॉ. दिनेशचंद मीणा, सीएमएचओ, करौली

ट्रेंडिंग वीडियो