पुलिस ने जाल बिछाकर पकड़े हनीट्रेप के चार आरोपी , आरोपियों में पिता-पुत्री भी शामिल

पुलिस ने जाल बिछाकर पकड़े हनीट्रेप के चार आरोपी
10 लाख रुपए की कर रहे थे मांग
आरोपियों में पिता-पुत्री भी शामिल

करौली। कोतवाली पुलिस ने हनीट्रेप गिरोह का खुलासा करते हुए दो युवतियों सहित चार जनों को गिरफ्तार किया है।
पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने बताया कि रविवार को उनकी जानकारी में मामला आया कि दो युवतियों द्वारा शहर के एक युवा व्यवसायी को प्रेम जाल में फंसाने के बाद उससे अश्लील वीडियो बनाए । बाद में वीडियो वायरल करने और बलात्कार का मामला दर्ज कराने की धमकी देकर 10 लाख रुपए की मांग की

By: Surendra

Published: 12 Jul 2021, 08:15 PM IST

पुलिस ने जाल बिछाकर पकड़े हनीट्रेप के चार आरोपी
10 लाख रुपए की कर रहे थे मांग
आरोपियों में पिता-पुत्री भी शामिल

करौली। कोतवाली पुलिस ने हनीट्रेप गिरोह का खुलासा करते हुए दो महिलाओं सहित चार जनों को सोमवार को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में पिता-पुत्री भी शामिल हैं।
कोतवाली पुलिस ने पुलिस अधीक्षक मृदुल कच्छावा ने बताया कि रविवार को उनकी जानकारी में मामला आया था कि दो युवतियों द्वारा शहर के एक युवा व्यवसायी को प्रेम जाल में फंसाने के बाद उससे अश्लील वीडियो बनाए और ब्लैकमेल करने लगे। बाद में वीडियो वायरल करने और बलात्कार का मामला दर्ज कराने की धमकी देकर 10 लाख रुपए की मांग की जा रही है।
इस पर उन्होंने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश चंद के नेतृत्व में थानाधिकारी रामेश्वर दयाल मीणा तथा करौली में यातायात प्रभारी टीनू सोगरवाल सहित 10 पुलिस कर्मियों की टीम गठित की। गठित टीम ने आरोपियों द्वारा की जा रही 10 लाख रुपए की मांग का पहले सत्यापन किया और फिर आरोपियों के बताए स्थान पर रुपए देने के लिए पीडि़त सदस्य को भेजा। पीडि़त के द्वारा राशि देने पहुंचने पर वहां पहले से जाल बिछाए बैठी पुलिस टीम ने मुख्य आरोपी सहित चार जनों को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इनमें दो युवती सरोज व पिंकी के अलावा मुख्य सरगना गैरई (सपोटरा) के प्रकाश मीणा तथा दूसरा आरोपी रम्मूलाल मीणा निवासी सुल्तानपुर (बालघाट) है। आरोपियों में रम्मूलाल स्वंय तथा उसकी पुत्री शामिल है।
टीम में जिला स्पेशल टीम के हैड कांस्टेबल रवीन्द्रसिंह, नरेन्द्र सिंह, गजेन्द्र सिंह, अभय कुमार कोतवाली करौली के सुग्रीव, रघुवीर, सतेन्द्र तथा निर्मला पाराशर शामिल थे। एसपी ने बताया कि प्रशंसा पत्र तथा नकद पुरस्कार प्रदान किया जाएगा।

महंगे शौक पूरा करने को चुना ये रास्ता

गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में आरोपियों ने पुलिस को बताया कि ऐश आराम का जीवन जीने और महंगे शौक पूरा करने के लिए उनको रुपयों की आवश्यकता थी। रोजगार नहीं होने से रुपयों की कमी थी। इस कारण उन्होंने पैसे वालों को प्रेम-प्यार में फंसाकर रुपए ऐंठने के लिए अपराध का ये रास्ता चुना।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned