scriptdangerous chaimar gang attack in up | छैमार गैंग के थे कासगंज डकैती के मारे गये बदमाश, बेहद खतरनाक है ये गैंग, जानिए कैसे बनाता है घरों को अपना निशाना... | Patrika News

छैमार गैंग के थे कासगंज डकैती के मारे गये बदमाश, बेहद खतरनाक है ये गैंग, जानिए कैसे बनाता है घरों को अपना निशाना...

छैमार गैंग का आपराधिक इतिहास पता करना बेहद मुश्किल होता है क्योंकि ये घूमन्तू होते हैं। जहां जाते हैं, वहां एक नई पहचान बना लेते हैं।

कासगंज

Published: May 19, 2018 01:34:25 pm

अलीगढ़। देर रात थाना दोदों क्षेत्र के सीकरी गांव के जंगलों में मुठभेड़ में मारे गए तीनों बदमाश के बारे में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। ये तीनों बदमाश कासगंज में डकैती और हत्या में शामिल रहे थे। इनका पूरा गैंग है, जो दिन में घरों की रेकी करता है और रात में घटना को अंजाम देता है। इस गैंग को छैमार गैंग के नाम से जाना जाता है। मरने वालों में दो बदमाश 25-25 हजार के इनामी हैं। इनके नाम आदित्य उर्फ अब्दुल रहमान शामली जिले के कैराना इलाके का है। जबकि अहसान उर्फ जीशान संभल जिले के थाना सिरसी इलाके का है। तीसरा बदमाश इनका सहयोगी वसीम उर्फ सोहेल शामली जिले के थाना कैराना का रहने वाला है।
gang
gang
वसीम का पुराना पता राजस्थान के हनुमानगढ़ इलाके के छप्पीवाड़ा स्थान से भी है। संभल के ही मोहल्ला चिनियावली मड़इया निवासी भीका उर्फ अब्दुल करीम पुत्र रसीद, शेख मियां पुत्र बाकिर व भीका का दोस्त भाग जाने में सफल रहे हैं। इनकी तलाश में पुलिस टीम जंगलों में कॉम्बिंग कर रही है। कासगंज में अमांपुर व सहावर थाना क्षेत्र में डकैती व चार लोगों की हत्या की घटना के बाद इनकी सरगर्मी से तलाश की जा रही थी।
बेहद खतरनाक है छैमार गैंग
मारे गया एक बदमाश राजस्थान के बताये जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि इनका अपना कोई पता ठिकाना नहीं है। आसानी से इनकी क्रिमनल हिस्ट्री नहीं पता की जा सकती है। इनका कोई परमानेंट नाम नहीं है। ये जहां रुकते है प्रधान से सांठ गांठ करके आधार कार्ड बनवा लेते हैं। फर्जी आधार कार्ड के आधार पर कुछ समय के लिए अपनी पहचान बना लेते थे। बताया जा रहा है कि कंजड़, बंजारा, हाबूड़ा, बावरिया जैसी क्रिमिनल ट्राइब की संख्या कम हो गई है। अब इन लोगों ने मिल कर आपराधिक गिरोह बना लिया है। जिसे छैमार गैंग के नाम से जाना जाता है। अब ये जनजातियां बहुत कम बची है। सामान्य जीवन से ये जनजातियां नहीं जुड़ी है। इनका अपना पता ठिकाना नहीं होता। ये घुमन्तू होते है।
मारने के लिए डंडे का इस्तेमाल
इस गैंग में शामिल लोग दिन में जगह जगह पर खेल तमाशा दिखाते हैं और इसी बीच ये घरों की रेकी कर लेते हैं। ये अपने साथ हथियार लेकर नहीं चलते हैं। मारने के लिए डंडे की इस्तेमाल करते हैं। तमंचे या गोली से घटना को अंजाम देते वक्त नहीं मारते है, गोली मारने में साउंड आती है जिससे पड़ोसियों व आसपास लोगों को पता चल जाता है। केवल डंडों से ही पीट पीट कर मौत के मुंहाने तक पहुंचा देते हैं। ये छोटे बच्चे, महिलाएं, बुजुर्ग व्यक्ति को भी मारने से नहीं हिचकिचाते। ताकि एफआईआर होने के बाद कोई पैरवी नहीं कर सके।
सोते समय करते हैं टारगेट
छैमार गैंग में शामिल लोग रात के वक्त घरों को टारगेट करते हैं। जब व्यक्ति घर में सो जाता है, तो सोते समय घर में घुस कर हमला कर देते हैं। कासगंज के सहावर व अमांपुर में डकैती के दौरान इसी तरीके से हमला किया गया। महिलाओं और बच्चों को डंडों से पीट पीट कर अधमरा कर दिया गया। ये दुर्दांत बदमाश घर में अलमारी को तोड़कर केवल गोल्ड और कैश ही उठाते थे। बाकी सामानों को नहीं छूते हैं। इनके बारे में खास बात ये है कि मरते मरते मर जाएंगे लेकिन अपना असली नाम और पता नहीं बताते है। इनका वास्तविक जीवन के बारे में कुछ पता नहीं चल पाता है। पुलिस अपनी आधुनिक तकनीक के जरिए इनका पता ठिकाने तक पहुंचती है।
 

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान में 26 से फिर होगी झमाझम बारिश, यहां बरसेगी मेहरबुध ने रोहिणी नक्षत्र में किया प्रवेश, 4 राशि वालों के लिए धन और उन्नति मिलने के बने योगबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीबेहद शार्प माइंड के होते हैं इन राशियों के बच्चे, सीखने की होती है अद्भुत क्षमतानोएडा में पूर्व IPS के घर इनकम टैक्स की छापेमारी, बेसमेंट में मिले 600 लॉकर से इतनी रकम बरामदझगड़ते हुए नहर पर पहुंचा परिवार, पहले पिता और उसके बाद बेटा नहर में कूदा3 हजार करोड़ रुपए से जबलपुर बनेगा महानगर, ये हो रही तैयारी

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिंदे खेमे में आ चुके हैं सरकार बनाने भर के विधायक! फिर क्यों बीजेपी नहीं खोल रही अपने पत्ते?Maharashtra Political Crisis: ‘मातोश्री’ में मंथन! सड़क पर शिवसैनिकों के उपद्रव का डर, हाई अलर्ट पर मुंबई समेत राज्य के सभी पुलिस थानेMaharashtra Political Crisis: 24 घंटे के अंदर ही अपने बयान से पलट गए एकनाथ शिंदे, बोले- हमारे संपर्क में नहीं है कोई नेशनल पार्टीBharat NCAP: कार में यात्रियों की सेफ़्टी को लेकर नितिन गडकरी ने कर दिया ये बड़ा काम, जानिए क्या होगा इससे फायदा2-3 जुलाई को हैदराबाद में BJP की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक, पास वालों को ही मिलेगी इंट्री, सुरक्षा के कड़े इंतजामMumbai News Live Updates: शिवसेना ने कल पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ेंगे उद्धव ठाकरेनीति आयोग के नए CEO होंगे परमेश्वरन अय्यर, 30 जून को अमिताभ कांत का खत्म हो रहा है कार्यकालCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.