अलीगढ़ मर्डर केसः चिलचिलाती धूप में ABVP की छात्राएं सड़क पर, नारे सुनकर हर कोई ठिठका

अलीगढ़ मर्डर केसः चिलचिलाती धूप में ABVP की छात्राएं सड़क पर, नारे सुनकर हर कोई ठिठका
Aligarh child killers

Dhirendra yadav | Updated: 08 Jun 2019, 05:53:50 PM (IST) Kasganj, Kasganj, Uttar Pradesh, India

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषदके कार्यकर्ताओं ने सड़क पर उतर कर बच्ची के कातिलों को फांसी की सजा देने की मांग उठाई।

कासगंज। अलीगढ के टप्पल में ढाई वर्षीय बच्ची की हत्या कर दी गई। इंसानियत को झकझोर कर देने वाली शर्मनाक वारदात के बाद हर कोई बेटी के कातिलों को फांसी की मांग कर रहा है। इसी के तहत कासगंज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने सडक पर उतर कर बच्ची के कातिलों को फांसी की सजा देने की मांग उठाई।

ये भी पढ़ें - अलीगढ़ हत्याकांड: ढाई साल की मासूम की निर्मम हत्या को लेकर एसआईटी ने खोला बड़ा राज

Aligarh child killers

ट्विंकल हम शर्मिंदा है, तेरे कातिल जिंदा हैं
चिलचिलाती धूप में सडकों पर झंडे और नारे लिखी तख्तियां लेकर निकली ये बेटियां अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हैं। रैली निकाल कर शासन और अलीगढ प्रशासन से मांग की कि टवकिंल के हत्यारों को फांसी की सजा दी जाए। ट्विंकल हम शर्मिंदा है, तेरे कातिल जिंदा है, जैसे नारे लगाकर आक्रोश प्रकट किया।

ये भी पढ़ें - मासूम ट्विंकल की घटना से लोगों में आया उबाल, इस तरह विरोध कर मांगी ये सजा

Aligarh child killers

अलीगढ़ आकर करेंगे आंदोलन
छात्र नेता प्रशांत राजपूत और पल्लवी यादव ने कहा कि हत्यारों को फांसी की सजा दिलाई जाये, ताकि इस तरह की वारदात करने से पहले सौ बार सोचे। उन्होंने शासन प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर बच्ची के कातिलों को फंसी की सजा नहीं सुनाई गई, तो हजारों की संख्या में एबीवीपी के कार्यकर्ता अलीगढ़ पहुंच कर उग्र आंदोलन करेंगे।

ये भी पढ़ें - अलीगढ़ में बच्ची की हत्या पर देशभर में आक्रोश, हत्यारों को फांसी देने की मांग बुलंद, देखें वीडियो

बेरहमी से की गई हत्या
उल्लेखनीय है कि गत दिनों अलीगढ के टप्पल में ढाई वर्षीय मासूम बेटी ट्विंकल को पहले अगवा कर लिया गया था। बाद में उसकी बेरहमी के साथ हत्या कर दी। उसके हाथ पैर काट कर शव को फेंक दिया था। आंख निकाल ली गई थी।

ये भी पढ़ें - पॉलीथिन पर चलेगा प्रशासन का डंडा, 12 जून से 19 जून तक चलेगा ये विशेष अभियान

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned