कासगंज कांड: पुलिस पर हमला करने वाला एक आरोपी मुठभेड में ढेर, सीएम योगी ने दिए NSA लगाने के आदेश

Highlights:

-मंगलवार शाम अवैध शराब की सूचना पर पहुंचे थे दारोगा और सिपाही

-पुलिस को लहूलुहान और निर्वस्त्र मिले थे दोनों

-मुख्य आरोपी की तलाश में पुलिस दे रही दबिश

By: Rahul Chauhan

Published: 10 Feb 2021, 09:48 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कासगंज। यूपी के कासगंज जिले में पुलिस पर हमला करने वाले एक आरोपी को बुधवार तड़के एनकाउंटर में मार गिराया गया। वहीं अन्य आरोपियों की तलाश में पुलिस लगातार दबिश दे रही है। पुलिस के मुताबिक बुधवार तड़के थाना सिढ़पुरा क्षेत्र में काली नदी की कटरी किनारे मुठभेड़ हुई। जिसमें मुख्य आरोपी मोती धीमर का भाई ऐलकार मारा गया। मृतक पुरानना हिस्ट्रीशीटर है और जेल जा चुका है। वहीं मुख्य आरोपी मोती फिलहाल फरार है, उस पर 11 मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस मामले के अन्य आरोपियों की तलाश में दबिश दे रही है। वहीं सीएम योगी ने आरोपियों पर रासुका (एनएसए) लगाने के आदेश दिए हैं।

यह भी पढ़ें: बहुबली विधायक विजय मिश्रा के घर पुलिस ने की कुर्की, बेटे के कमरे का सामान ज़ब्त

बता दें कि मंगलवार शाम पुलिस को थाना सिढ़पुरा क्षेत्र के गांव नगला धीमर और नगला भिकारी में अवैध शराब की सूचना मिली थी। जिसपर दबिश दारोगा अशोक कुमार सिंह और सिपाही देवेंद्र कुमार दबिश देने पहुंचे। गांव में पहुंचने पर शराब माफिया ने उन पर हमला कर दिया और उन्हें बंधक बना लिया। फिर निर्वस्त्र कर बुरी तरह पिटाई कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने दोनों को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया। वहीं आरोपी मौके से फरार हो गए। इलाज के दौरान सिपाही देवेंद्र की अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज में मौत हो गई, जबकि दारोगा की हालत गंभीर बनी हुई है।

यह भी देखें: ताई ने इस वजह से मासूम बच्चे की ली जान

मामले की सूचना मिलते ही एडीजी अजय आनंद और आईजी पीयूष मोर्डिया भी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। सीएम योगी ने भी सख्त तेवर दिखाते हुए आरोपियों पर एनएसए सहित कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। साथ ही मृतक सिपाही के परिजनों को 50 लाख की आर्थिक मदद व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी की घोषणा की।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned