पहले की दोस्ती, फिर मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से उड़ाये एक लाख 77 हजार रुपये, जीआरपी ने दो को दबोचा

- एक कर्मचारी के बैंक खाते से पौने दो लाख रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पीडि़त की शिकायत पर जीआरपी पुलिस ने तत्परता दिखाई और दो आरोपियों को दबोच लिया। हालांकि आरोपियों ने नशा और जुआ-सट्टा में रुपये उड़ा दिए हैं।

- जीआरपी ने आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। जीआरपी टीआइ डीपी चड़ार ने बताया कि मधुसूदन सिंह चौहान पिता मूल सिंह चौहान (61) वार्ड नंबर 14 राजीव गांधी वार्ड थाना कोतवाली कटनी निवासी का एसबीआइ एनकेजे में खाता है।

- उसके खाते से अलग-अलग दिनांक में मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से 1 लाख 77 हजार रुपये निकाल लिए गए।

By: balmeek pandey

Published: 01 Jul 2019, 11:38 AM IST

कटनी. एक कर्मचारी के बैंक खाते से पौने दो लाख रुपये की ठगी का मामला सामने आया है। पीडि़त की शिकायत पर जीआरपी पुलिस ने तत्परता दिखाई और दो आरोपियों को दबोच लिया। हालांकि आरोपियों ने नशा और जुआ-सट्टा में रुपये उड़ा दिए हैं। जीआरपी ने आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है। जीआरपी टीआइ डीपी चड़ार ने बताया कि मधुसूदन सिंह चौहान पिता मूल सिंह चौहान (61) वार्ड नंबर 14 राजीव गांधी वार्ड थाना कोतवाली कटनी निवासी का एसबीआइ एनकेजे में खाता है। उसके खाते से अलग-अलग दिनांक में मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से 1 लाख 77 हजार रुपये निकाल लिए गए। जब घटना की जानकारी लगी तो पीडि़त ने बैंक में सूचना दी। बैंक से कोई समाधान न मिलने पर मधुसूदन जीआरपी थाने पहुंचा और टीआइ को समस्या बताई। टीआइ ने तत्काल इस मामले में अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध धारा 420, 120 बी, 34 आइपीसी 65,66ख आइपीएस के तहत प्रकरण दर्ज कर तलाश शुरू की। आरोपी ने पहले दोस्ती की फिर मौका पाते ही एटीएम कोड जानकर खाते से रुपये उड़ाए हैं।

 

इस गांव में नकली खाद बेचे जाने की शिकायत, एक को हिरासत में लेकर पुलिस ने शुरू की जांच

 

दो ने मिलकर रची साजिश
जीआरपी टीआइ डीपी चड़ार ने बताया कि सूचना देने पर एसबीआइ और बैंक ऑफ इंडिया से स्टेटमेंट की जानकारी ली गई। इसमें दीपक केवट (26) निवासी लखेरा खेरमाई मंदिर के खाते में गए हैं। इसी के एटीएम से फिर रुपये निकाले गए। साथ में मनीष सिंह राजपूत उर्फ चीनी एर्फ नेपाली (22) निवासी विवेकानंद वार्ड लखेरा भी कांड में शामिल रहा। दोनों से जब पूछताछ की गई तो जुर्म स्वीकार किया। 1 लाख 77 हजार रुपये में से 33 हजार 600 रुपये जब्त किए। गए हैं। बताया जा रहा कि आरोपियों ने कपड़े, जूता, टैटू, जुआ, सट्टा आदि में रुपयों को बर्बाद कर दिया है। दोनों ने फरियादी को गुमराह कर एटीएम कोड लेकर रुपये मोबाइल बैकिंग के माध्यम से उड़ाये थे।

अवैध वेंडर गिरफ्तार
आरपीएफ ने एक अवैध वेंडर को गिरफ्तार किया है। आरपीएफ पोस्ट प्रभारी दिनेश सिंह ने बताया कि ट्रेन में अनाधिकृत रूप से खाद्य सामग्री बेचते पाए जाने पर एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। आरोपी के विरुद्ध रेल अधिनियम के तहत कार्रवाई की है।

 

एप संचालन में जिले के आंगनवाड़ी केंंद्रों ने मारी बाजी, रियल टाइम एक्टिविटी फीड करने में प्रदेश में पहले और देश में चौथे पायदान पर बनाई जगह

 

एक मोबाइल चोर गिरफ्तार
जीआरपी ने एक मोबाइल चोर को गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से मोबाइल जब्त किया है। आरपीएफ पोस्ट प्रभारी डीपी चड़ार ने बताया कि अपराध क्रमांक 540 में दिनेश निषाद 34 निवासी चिल्ली राजापुर चित्रकूट उत्तरप्रदेश से एक मोबाइल जब्त किया गया है। यह कार्रवाई सीडीआर लोकेशन के आधार पर की गई है।

 

कैसे निखरें खेल प्रतिभाएं: चार साल बाद भी नहीं रखी गई खेल मैदान की नींव, इस विभाग की सामने आई बड़ी बेपरवाही

 

इनका कहना है
युवक के साथ ठगी करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपियों ने रकम को जुआ-शराब, सट्टा आदि में खर्च कर लिया है। 10 हजार का टैटू भी बनवाया है। दोनों के पास से लगभग 35 हजार रुपये जब्त किए गए है। युवक को गुमराह की मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से ठगी की है।
डीपी चड़ार, स्टेशन मास्टर।

Show More
balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned