ग्रामीण को पैसे देते पकड़ाया नूर, तो सफाई में कहा पैसे का चुनाव से कोई संबंध नहीं, ये भी कहा...

- शाम को नूर की पैसे देते वाली तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होते ही अचार संहिता के मद्देनजर विवाद शुरू हो गया

By: Shiv Singh

Published: 15 Nov 2018, 11:20 AM IST

कोरबा. छत्तीसगढ़ उर्दू आकादमी के सदस्य और पूर्व गृहमंत्री ननकीराम के करीबी नूर मोहम्मद आरबी जिल्गा एक व्यक्ति को पांच हजार 111 रुपए देकर विवादों में आ गए हैं। इस मामले की मौखिक शिकायत मिलने के बाद निर्वाचन आयोग ने नूर के खिलाफ जांच शुरू कर दी है। वहीं नूर का कहना है कि पैसे का चुनाव से कोई संबंध नहीं है।

बुधवार को सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हुई। इसमें नूर मोहम्मद आरबी को जिल्गी बरपाली के एक व्यक्ति को पांच हजार 111 रुपए देने का दावा किया गया। कहा जा रहा है कि उस वक्त नूर रामपुर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी ननकीराम कंवर का चुनाव प्रचार करने निकले थे। शाम को नूर की पैसे देते वाली तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होते ही अचार संहिता के मद्देनजर विवाद शुरू हो गया। प्रशासन को नूर के पैसे बांटने की जानकारी मिली। इसे गंभीरता से लेते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी ने जांच का आदेश दिया है। कहा है कि आचार संहिता के उल्लंघन को दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी।

Read More : जंगल में मिली किशोरी की लाश का मामला सुलझा, पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में चौकाने वाली बात आई सामने

-जिल्गा के मुस्लिम व्यक्ति को पैसे देने की बात सामने आई है। इसकी जांच कराई जा रही है। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी।
मोहम्मद कैसर अब्दुल हक जिला निर्वाचन अधिकारी, कोरबा

-मैं हज से लौटा हूं। पहले भी समिति को सहयोग करता रहा हूं। भाजपा के प्रचार या प्रलोभन की बात गलत है।
नूर मोहम्मद आरबी सदस्य, उर्दू आकादमी

Shiv Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned