कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे हैं बच्चे

अब तक 43 संक्रमित, दो बच्चों की मौत

By: Ranjeet singh solanki

Updated: 13 May 2021, 05:01 PM IST

झालावाड. कोरोना वायरस से जंग लडऩे के लिए 18 प्लस के युवाओं के भी वैक्सीनेशन का काम शुरू हो गया है, लेकिन इस श्रेणी के लोगों का टीकाकरण करना ही सरकार के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। वहीं कोरोना की दूसरी घातक लहर की चपेट में बच्चे भी आ रहे हैं। बड़ी संख्या में बच्चे कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं। अकेले झालावाड़ जिले में ही करीब चार दर्जन मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना के कारण दो बच्चों की मौत हो गई है। सूत्रों ने बताया कि कोरोना वायरस के म्यूटेट होने के बाद अब इस वायरस का नया वेरिएंट बच्चों पर कहर ढहा रहा है। यहीं कारण है कि बच्चे अधिक संख्या में संक्रमित हो रहे है। अब तक 43 बच्चे संक्रमित हो चुके है। जबकि 2 बच्चों की मौत हो चुकी है। कोरोना की दूसरी लहर में पांच नवजात बच्चे भी कोरोना संक्रमित हो चुके है। एक पखवाड़े पूर्व ही संक्रमित शिशुओं की संख्या को ध्यान में रखते हुए जनाना अस्पताल के तृतीय तल पर कोविड वार्ड बनाया गया है। जहां बुधवार को दो पॉजिटिव बच्चे भर्ती थे। इनमें एक नवजात एवं एक शिशु शामिल है। हीराकुंवर बा जनाना चिकित्सालय में कोविड संदिग्ध बच्चों के लिए एक अलग से वार्ड बनाया गया है। इसमें निमोनिया, उल्टी-दस्त समेत पेट दर्द वाले बच्चों को कोविड का संदिग्ध रोगी मानते हुए उपचार किया जा रहा है। फिलहाल एसआरजी के आउटडोर में भी उल्टी, दस्त समेत पेट-दर्द एवं कुछ निमोनिया के शिशु उपचार के लिए आ रहे है। चिकित्सकों के मुताबिक कोरोना वायरस के नए वेरिएण्ट ने बच्चों पर असर डालना शुरू कर दिया है। इसका प्रमुख कारण अब अधिक उम्र वालों के वैक्सीनेशन का शुरू होना माना जा रहा है। ऐसे में अब वायरस छोटी उम्र वाले बच्चों पर ट्रांसफर होगा।
क्या रखे ध्यान
बच्चों को बाहर नहीं निकलने दें। मास्क का उपयोग करने के लिए प्रेरित करें। आस-पडौस के बच्चों के साथ नहीं खेलने दें। बच्चों को हैल्दी डाइट दें। बच्चा प्रॉपर नींद लें इसका ध्यान रखे। बार-बार हाथ धुलवाएं। शिशु रोग विभाग के सीनियर प्रोफेसर डॉ.गौतम नागौरी के मुताबिककोरोना की दूसरी लहर में बच्चे भी संक्रमित हो रहे है। फिलहाल बच्चों के लिए अलग से कोविड वार्ड बनाया है। इसमें वेंटीलेटर एवं ऑक्सीजन की व्यवस्था कर दी है। एसआरजी की ओपीडी में उल्टी, दस्त एवं निमोनिया के ्िरशशु रोगी आने पर उनको कोविड संदिग्ध मानकर उपचार कर रहे है। डॉ.एम.एल स्वर्णकार के अनुसार कोरोना का नया वेरिएण्ट बच्चों को संक्रमित कर रहा है। ऐसे में अब तक करीब 43 बच्चे संक्रमित हुए है। लेकिन सावधानी एवं कोरोना एप्रोप्रिएट बीहेवियर का उपयोग कर बच्चों को भी इस लहर में संक्रमित होने से बचा सकते है।

BJP Congress
Show More
Ranjeet singh solanki
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned