बच्चों की मौत मामले में मातमपुर्सी धरी रह गई, कांग्रेस के दो गुटों में चले लात घूसे, कपड़े फाड़े, पायलट भी हुए शिकार

नईमुददीन गुडडू और उनके समर्थकों ने की कुंदन यादव से मारपीट, कपड़े तक फाड़े, हॉस्पीटल में कांग्रेसियों ने की अराजकता की हदें पार

कोटा. जेके लोन अस्पताल में एक तरफ बच्चों की मौतों को लेकर बवाल हो रहा है वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग नेताओं के साथ अस्पताल में घुसने को लेकर हंगामा कर रहे है। शनिवार को ऐसा ही नजारा जेके लोन अस्पताल में देखने को मिला। डिप्टी सीएम सचिन पायलट शनिवार को जेके लोन पहुंचे। इस दौरान कई कार्यकर्ता भी उनके साथ अस्पताल के अंदर जाने की कोशिश करने लगे।

लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया। पहले तो एक साथ भीड़ को अंदर जाने से पुलिस रोकती रही, दूसरी तरफ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने रोके जाने को लेकर हंगामा कर दिया। धक्कामुक्की की स्थिति बन गई। पुलिस ने बामुश्किल हालात को संभाला। लोगों की भीड़ को अस्पताल गेट से दूर किया ताकि मरीजों को आने जाने में परेशानी न हो।

कोटा में जेके लोन अस्पताल में सचिन पायलट के दौरे के दौरान कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए। प्रदेश कांग्रेस सचिव नईमुददीन गुडडू के समर्थको ने कांग्रेसी नेता कुंदन यादव से मारपीट कर दी। मामला पालिका चुनाव से जुड़ा था और बच्चों की मौतों जैसे संवेदनशील मामले में कांग्रेसी कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ते नजर आए। कुंदन यादव ने बताया कि जब सचिन पायलट वहां से रवाना हुए, उसके बाद वह बाहर अपनी कार की तरफ जा रहे थे। इसी दौरान नईमुददीन गुडडू और उनके समर्थको ने पकड़कर मारपीट कर दी।

कुंदन ने बताया कि पालिका चुनाव के समय हुई मारपीट के दौरान उन्होंने शिवराज का समर्थन किया था। इस बात को लेकर गुडउू और समर्थकों ने मारपीट की। बाद में एएसपी ने इन्हें बचाया। इधर, मामले को लेकर नईमुददीन गुडडू ने कहा कि उन्होंने किसी के साथ मारपीट नही की। कार्यकर्ताओं ने कुंदन के साथ मारपीट की थी, उन्होंने तो जैसे तैसे बचाव किया और कुंदन को उनकी कार तक पहुंचाया।

व्यवस्थाएं सुधारने के सवाल पर साधी चुप्पी

कोटा के जेके लोन अस्पताल में एक तरफ बच्चों की मौतों को लेकर बवाल हो रहा है वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग नेताओं के साथ अस्पताल में घुसने को लेकर हंगामा कर रहे है। शनिवार को ऐसा ही नजारा जेके लोन अस्पताल में देखने को मिला। डिप्टी सीएम सचिन पायलट शनिवार को जेके लोन पहुंचे। इस दौरान कई कार्यकर्ता भी उनके साथ अस्पताल के अंदर जाने की कोशिश करने लगे।

लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया। पहले तो एक साथ भीड़ को अंदर जाने से पुलिस रोकती रही, दूसरी तरफ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने रोके जाने को लेकर हंगामा कर दिया। धक्कामुक्की की स्थिति बन गई। पुलिस ने बामुश्किल हालात को संभाला। लोगों की भीड़ को अस्पताल गेट से दूर किया ताकि मरीजों को आने जाने में परेशानी न हो।

BJP Congress
Show More
Suraksha Rajora Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned