scriptFees refunding to students of English medium govt schools | Big Impact : बच्चों से वसूला गया शुल्क लौटाना शुरू, एक स्कूल ने 57 हजार शुल्क लौटाया | Patrika News

Big Impact : बच्चों से वसूला गया शुल्क लौटाना शुरू, एक स्कूल ने 57 हजार शुल्क लौटाया

पत्रिका की खबर के बाद बैकफुट पर आए विद्यालय, कोटा के गुमानपुरा विद्यालय में बच्चों के अभिभावकों को बुलाकर चेक सौंपे, सरकारी अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में बच्चों से विकास शुल्क वसूलने का मामला

कोटा

Published: August 14, 2021 10:24:43 pm

कोटा.

राजधानी जयपुर समेत प्रदेश के कोटासीकर जिले में राजकीय अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में विकास शुल्क वसूली के मामले में बच्चों व उनके अभिभावकों को राहत मिलना शुरू हो गई है।
राजस्थान पत्रिका ने प्राथमिक शिक्षा के बच्चों से विकास शुल्क वसूली के मामले को प्रमुखता से उठाया था। इसके बाद शिक्षा मंत्री गोविन्दसिंह डोटासरा ने गंभीरता दिखाई और निदेशालय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए थे। मंत्री के निर्देश के बाद कोटा के विद्यालयों ने बच्चों को शुल्क लौटाना (Fees Refunding ) शुरू कर दिया है। इसकी शुरूआत नोडल स्कूल गुमानपुरा से की गई है। अन्य स्कूलों को भी वसूला गया शुल्क लौटाने के निर्देश दिए गए हैं।
Big Impact : बच्चों से वसूला गया शुल्क लौटाना शुरू, एक स्कूल ने 57 हजार शुल्क लौटाया
Big Impact : बच्चों से वसूला गया शुल्क लौटाना शुरू, एक स्कूल ने 57 हजार शुल्क लौटाया
शनिवार को कोटा में नोडल स्कूल गुमानपुरा अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में बच्चों के अभिभावकों को बुलाकर वसूले गए शुल्क के बतौर रिफंड के चेक सौंपे गए। विद्यालय प्रशासन ने बच्चों से लिए शुल्क को लौटाने के लिए अभिभावक-शिक्षकों की बैठक बुलाई गई। बैठक में प्रिन्सीपल ने अपने हाथों से यह राशि लौटाई। प्रिंसिपल राहुल शर्मा ने बताया कि स्कूल में प्रथम कक्षा के 27 बच्चों से 3-3 हजार रुपए का शुल्क लिया था। बैठक में 19 बच्चों के अभिभावक आए थे। उन्हें 57 हजार रुपए चेक लौटा दिए। कुछ अभिभावक स्कूल नहीं आ पाए, उन्हें भी बुलाकर यह शुल्क लौटा दिया जाएगा।

पत्रिका ने उठाया था मामला-

राजस्थान पत्रिका के 9 अगस्त के अंक में 'यह कैसी नि:शुल्क शिक्षा: बच्चों से वसूल रहे 3000 रुपए तक शुल्क' शीर्षक से खबर प्रकाशित कर मामले को प्रमुखता से उठाया था। खबर में बताया गया था कि नि:शुल्क व अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम (RTE ACT) के तहत इस तरह की वसूली नहीं की जा सकती है। ज्ञात है कि जयपुर, कोटा व सीकर में बच्चों से मनमाने तरीके से विकास शुल्क की वसूली की गई। अन्य जिले भी इस वसूली की तैयारी में थे।

निदेशक कर रहे मॉनिटरिंग-

बीकानेर शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी खुद इस मामले की पूरी मॉनिटरिंग कर रहे हैं। उन्होंने कोटा के अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) प्रदीप चौधरी से शुल्क वसूली की पूरी जानकारी ली। जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक केके शर्मा ने गुमानपुरा अंग्रेजी माध्यम विद्यालय के नोडल अधिकारी के जरिए कोटा जिले के सभी 6 विद्यालयों से बच्चों से वसूले गए शुल्क को लेकर तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी थी। विद्यालयों की ओर से विभाग को यह रिपोर्ट सोमवार को सबमिट की जाएगी। इसके बाद शिक्षा विभाग अग्रिम कार्रवाई करेगा।
Big Impact : बच्चों से वसूला गया शुल्क लौटाना शुरू, एक स्कूल ने 57 हजार शुल्क लौटायाBig Impact : बच्चों से वसूला गया शुल्क लौटाना शुरू, एक स्कूल ने 57 हजार शुल्क लौटाया

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.