OMG! कोटा में ये क्या हो गया, 60 से ज्यादा परिवारों का बुझ गया चिराग

Zuber Khan

Publish: Oct, 13 2017 01:25:55 (IST) | Updated: Oct, 13 2017 05:08:51 (IST)

Kota, Rajasthan, India
OMG! कोटा में ये क्या हो गया, 60 से ज्यादा परिवारों का बुझ गया चिराग

शहर में डेंगू, स्वाइन फ्लू व स्क्रब टायफस ने महामारी का रूप धारण कर लिया। प्रतिदिन किसी न किसी परिवार का चिराग बुझ रहा है।

कोटा . शहर में मौसमी बीमारियों ने महामारी का रूप धारण कर लिया है। प्रतिदिन किसी न किसी परिवार का चिराग बुझ रहा है। डेंगू, स्वाइन फ्लू व स्क्रब टायफस से अब तक 60 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी हैं। बीमारियों को रोकने के लिए प्रभावी कमद उठाने के बजाए चिकित्सा विभाग के अधिकारी आंकड़ों में ही उलझे हुए हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग निदेशालय के संयुक्त निदेशक एन.एस धोलपुरिया गुरुवार को कोटा पहुंचे। उन्होंने मौसमी बीमारियों को लेकर रिव्यू मीटिंग ली और आंकड़े लेकर चले गए।


घरों में पायरेथ्रम का छिड़काव
डिप्टी सीएमएचओ डॉ. रामजीलाल मीणा व कीट विशेषज्ञ डीपी चौधरी की टीमों ने शहर के 3079 घरों का सर्वे किया। यहां टंकी, कूलर व अन्य जलस्त्रोतों की जांच की। कमरों में पायरेथ्रम का छिड़काव किया।


फॉग मशीन से की फोगिंग
जयपुर से फॉग मशीन गुरुवार को कोटा पहुंच गई है। शाम को राजीव गांधी नगर नए व पुराने, महावीर नगर प्रथम, इन्द्रा कॉलोनी, ओम सिने प्लेक्स, महावीर नगर विस्तार योजना क्षेत्रों में सघन फोगिंग की गई। उधर, महावीर नगर में वार्ड २४ को सात भागों में बांटकर नगर निगम व सीएमएचओ की 7 मशीनों ने फोगिंग की।

 

पार्षद ने गली-गली घूमकर की फोगिंग
शहर में बेकाबू हुए डेंगू की रोकथाम के लिए गुरुवार को वार्ड 50 के पार्षद देवेन्द्र चौधरी ने खुद ही फोगिंग मशीन लेकर गलियों में फोगिंग की। इसके बाद निगम कर्मचारी भी पहुंचे और उन्होंने फोगिंग की। पार्षद चौधरी ने बताया कि महावीर नगर सेक्टर 4 एवं गणेश तालाब में फोगिंग की। पिछले एक सप्ताह से निगम से फोगिंग की मांग कर रहे थे, लेकिन आश्वासन देकर टाला जा रहा था। ऐसे में वो निगम पहुंचे और चार फोगिंग मशीनें लेकर आ गए और खुद ही करने लगे। उन्होंने कहा कि वार्ड में टीम बनाकर फोगिंग करवाई जाएगी।

 

दो महिलाओं की मौत
शहर में डेंगू से गुरुवार सुबह दो महिलाओं की मौत हो गई। प्रताप कॉलोनी निवासी डेंगू पीडि़त सुनीता तलवंडी स्थित निजी अस्पताल में भर्ती थी। सुधार नहीं होने पर परिजन 10 अक्टूबर को एमबीएस लेकर आए, 12 अक्टूबर को तड़के उसकी मौत हो गई। दूसरी मृतका प्रताप कॉलानी निवासी रहमतुल है।

 

डेंगू व स्वाइन फ्लू के नए मामले सामने आए
कोटा संभाग में डेंगू व स्वाइन फ्लू के नए मामले लगातार सामने आ रहे हैं। अब तक 11 रोगी सामने आए हैं। कोटा में डेंगू के 8, बारां 1, बूंदी 1, मध्यप्रदेश 1 मरीज व स्वाइन फ्लू में कोटा के 2, झालावाड़ 1, बारां का 1 रोगी शामिल हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned