सेवा कार्य देख भावुक हुए यूडीएच मंत्री

रोटरी बिनानी सभागार में शनिवार को आयोजित दिव्यांग उपकरण वितरण शिविर कार्यक्रम के दौरान सेवा कार्यों को देख व सुनकर स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल भावुक हो गए।

 

By: Abhishek Gupta

Published: 21 Feb 2021, 01:44 PM IST

कोटा। रोटरी बिनानी सभागार में शनिवार को आयोजित दिव्यांग उपकरण वितरण शिविर कार्यक्रम के दौरान सेवा कार्यों को देख व सुनकर स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल भावुक हो गए। रोटरी बिनानी सभागार में रोटरी क्लब की ओर से भगवान महावीर विकलांग समिति व भारत सेवा संस्थान के सहयोग आयोजित कार्यक्रम के दौरान संस्थापक डीआर मेहता के सेवा कार्यों व 36 हजार दिव्यांगों का पुनर्वास करने की बात सुनकर उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े। उन्होंने कहा कि अशक्त को सशक्त बनाकर उसे आत्मनिर्भर बनाने से बढ़कर कोई परोपकार नहीं है। समिति सेवा के कार्यों से देश-दुनिया का मार्गदर्शक कर रही है, यह हमारे के लिए गौरव की बात है। भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति जयपुर के संस्थापक डीआर मेहता ने कहा कि संस्था दिव्यांगों को दान नहीं, उनकी सहायता करती है। समिति की देश में 26 शाखाएं है। भारत के अलावा 36 देशों में शिविर आयोजित किए जा चुके और 36 हजार दिव्यांगों का पुनर्वास किया जा चुका है। कोटा समिति के प्रवीण भण्डारी ने कहा कि 42 हजार दिव्यांगों को जयपुर फु ट लगाए जा चुके है। पूर्व महाधिवक्ता जीएस बापना से कहा कि निरन्तर निशक्तजनों की सेवा का कार्य किया जा रहा है। रोटरी क्लब के अध्यक्ष बीएल गुप्ता ने कहा कि चार्टड डे पर इस पुनित सेवाकार्य का आगाज किया गया। इस शिविर में दिव्यांगों को करीब दो करोड़ के उपकरण वितरित होंगे।

कृत्रिम हाथ-पैर पहनते देखा तो खिले चेहरे

शिविर में कृत्रिम हाथ-पैर, ट्राइसाइकिल पाकर दिव्यांगजनों के चेहरे खुशी से खिल उठे। मंत्री धारीवाल ने शिविर में दिव्यांगजन के पास पहुंचकर उनके हाल जाने। उन्होंने दिव्यांगों को कृत्रिम हाथ-पैर पहनते देखा और उनका अनुभव पूछा। दिव्यांग जितेन्द्र ने उन्हे अपने नए हाथ से पानी पी कर बताया और कृत्रिम हाथ में ऑटोमेटिक बटनों की सुविधा को भी दर्शाया।

दिव्यांगों को सौंपे सहायता उपकरण

सचिव लक्ष्मण सिंह खीची एवं प्रवीण भण्डारी ने बताया कि शिविर के पहले दिन 300 से अधिक दिव्यांगों को अंग उपकरण का वितरण किया गया। इनमें कृत्रिम पैर 40, कृत्रिम हाथ 20, कैलीपर्स 20, बैसाखियां 40, सुनने की मशीन 150, व्हीलचेयर 55, ट्राइसाइकिल 50 का वितरण हुआ। अब तक पंजीकृत 2600 दिव्यांगजन का उपकरण होगा। दीपक मेहता ने बताया कि रोजगार शिविर में 200 दिव्यांगों को डेटा लिया। जिनमें से 11 लोगों का साक्षात्कार लिया गया।

ये रहे उपस्थित

समारोह में कोटा दक्षिण महापौर राजीव अग्रवाल, समाजसेवी प्रसन्ना भण्डारी, एआईसीसी के सदस्य पंकज मेहता, सुरेश अग्रवाल, सुनील बाफ ना, घनश्याम मूंदड़ा, लक्ष्मण नैनानी, प्रेम भाटिया, आशीष माहेश्वरी, मनु पालीवाल आदि उपस्थित रहे। संचालन शिविर प्रभारी अनुपम शर्मा ने किया।

Abhishek Gupta
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned