मनचलों की नकेल कस रही महिला पुलिस की सिग्मा

Vineet singh

Publish: Sep, 17 2017 08:23:34 (IST)

Kota, Rajasthan, India
मनचलों की नकेल कस रही महिला पुलिस की सिग्मा

कोटा पुलिस की महिला सिपाहियों के दस्ते को 20 स्कूटी से लैस किया गया है। जो महिला अपराधों को रोकने के लिए शहर में गस्त कर रही हैं।

कोटा में कोचिंग छात्राओं से छेड़छाड़ और भीड़भाड़ वाले बाजारों में महिलाओं से अभद्रता करने वाले मनचलों की अब खैर नहीं है। ऐसे लोगों पर निगाह रखने के लिए अब शहर में महिला कांस्टेबल सिगमा स्कूटी पर घूमने लगी हैं। वे भी एक-दो नहीं बल्कि चार से छह के समूह में।

कोटा पुलिस की महिला कांस्टेबल अधिकतर कोचिंग संस्थान वाले क्षेत्रों और महिलाओं की अधिक संख्या वाले बाजारों में सुबह से रात तक स्कूटी पर गश्त कर रही हैं। शनिवार को गुमानपुरा थाने की चार महिला कांस्टेबल दिन के समय चौपाटी बाजार में गश्त कर रही थी। इस दौरान उन्होंने वहां कई महिलाओं व युवतियों से उनकी सुरक्षा के लिए समझाइश भी की। साथ ही कहा कि बाजार में जाते समय अपने पर्स व चेन का ध्यान स्वयं रखे। यदि कोई परेशानी हो तो वे तुरंत संबंधित थाने व कंट्रोल रूम को सूचना दे। जिससे उन्हें सूचना मिलते ही वे तुरंत मौके पर पहुंचकर अपराधियों को पकड़ सकें।

Read More: पत्रिका इम्पेक्टः- खबर का हुआ असर, रेलवे ने निकाली बंपर भर्तियां

महिला सुरक्षा प्राथमिकता 

गुमानपुरा थानाधिकारी विजय शंकर शर्मा ने बताया कि इन महिला कांस्टेबलों को विशेषकर बालिका स्कूल के आसपास छुट्टी के समय और शाम को सेवन वेंडर्स व चौपाटी बाजार की तरफ गश्त पर रखा जाता है। जिससे महिलाओं व युवतियों के साथ किसी तरह की कोई वारदात नहीं हो सके। यदि कोई वारदात हो भी जाए तो वे तुरंत स्थिति को संभाल सके।

Read More: वकील और फरियादियों के आगे छोटा पड़ा अदालत परिसर, चोरों की लगी लॉटरी 

शहर पुलिस को मिली 20 स्कूटी

शहर पुलिस अधीक्षक अंशुमान भौमिया ने बताया कि शहर पुलिस को २० स्कूटी मिली है। गत माह मुख्यमंत्री व गृहमंत्री ने कोटा आगमन के दौरान इसकी शुरुआत की थी। तब से ये लगातार शहर में घूम रही हैं। इन्हें मुख्यत: कोचिंग क्षेत्र जवाहर नगर, विज्ञान नगर, महावीर नगर व कुन्हाड़ी थाना क्षेत्रों में रखा गया है। इनके अलावा अन्य थाना क्षेत्रों में भी अलग-अलग समय पर समूह में महिला कांस्टेबल गश्त करती हैं। ये महिला अपराधों पर नियंत्रण में सहायक हो रही हैं।

Read More: #sehatsudharosarkar: डेंगू ने पति के बाद पत्नी की भी ली जान, डॉक्टर-नर्सिंग कर्मी जांच रिपोर्ट को लेकर भिड़े

आधुनिक संसाधनों से लैस है स्कूटी

महिला पुलिस कर्मियों को गश्त करने व किसी भी तरह का अपराध या घटना की जानकारी होने पर उनके तुरंत पहुंचने में स्कूटी सहायक होगी। ये आधुनिक संसाधनों से लैस है। साथ ही स्कूटी सवार दोनों महिला कांस्टेबल हैलमेट पहनकर चलती है। इससे अन्य वाहन चालकों को भी एक संदेश मिलेगा। सिग्मा गस्ती दल की शुरुआत 18 अगस्त से हुई। जिसमें एक स्कूटी पर दो महिला कांस्टेबल तैनात रहती हैं। 4 से 6 महिला कांस्टेबलों का दल कोटा के 5 थाना क्षेत्रों में एक साथ गस्त करता हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned