scriptChennai Super Kings captain MS Dhoni joined with this Chinese company | Chennai Super Kings के कप्तान एमएस धोनी ने मिलाया चीन की इस कंपनी से हाथ, कहीं शुरू ना हो जाए विरोध | Patrika News

Chennai Super Kings के कप्तान एमएस धोनी ने मिलाया चीन की इस कंपनी से हाथ, कहीं शुरू ना हो जाए विरोध

  • चीनी मोबाइल कंपनी ओप्पो के BeTheInfinite कैपेंन के साथ जुड़े महेंद्र सिंह धोनी
  • सचिन की तरह कहीं धोनी का भी शुरू ना हो जाए विरोध, देश में चल रहा है चाइनइज बॉयकॉट

नई दिल्ली

Updated: September 18, 2020 02:32:08 pm

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का पेटीएम फस्र्ट गेम्स का ब्रांड एंबेस्डर बनने बाद शुरू हुआ विरोध अभी शांत भी नहीं हुआ है कि अब अब एक देश के स्टार खिलाड़ी का चीनी कंपनी के साथ जुड़े का मामला सामने आ गया है। इस बार देश को दूसरी बार वल्र्ड कप दिलाने वाले और देश के सबसे सफल क्रिकेट कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का नाम सामने आया है। इंडियन प्रीमियर लीग ( Indian Premier League 2020 ) में चेन्नई सुपर किंग्स ( Chennai Super Kings ) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ( Mahendra Singh Dhoni )ने चीनी मोबाइल कंपनी ओप्पो के BeTheInfinite कैंपेन के जुड़ गए हैं। आपको बता दें कि मौजूदा समय में देश में चीनी विरोधी माहौल चल रहा है। देश के प्रत्येक सिलेब्रिटी और संस्थाओं से अपील की जा रही है कि वो चीनी सामान को प्रमोट ना करें।

MS Dhoni
Chennai Super Kings captain MS Dhoni joined with this Chinese company

ओप्पो के कैंपेन से जुड़े धोनी
देश ही नहीं दुनिया के करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत बने महेंद्र सिंह धोनी ओप्पो के BeTheInfinite कैपेंन के तहत उन युवाओं को आगे बढ़ाने का प्रयास करेंगे जो अपनी जिंदगी में कुछ करना चाहते हैं। कंपनी के अनुसार इस कैंपेन के माध्यम से लोगों में ज्यादा से ज्यादा कुछ कर गुजरने का जुनून पैदा करना है ताकि वो सब हासिल कर सकें जो वो करना चाहते हैं। कंपनी का कहना है एमएस धोनी देश के करोड़ों युवाओं के रोल मॉडल हैं। उन्होंने अपने जीवन संघर्ष से दिखाया है कि अगर आपमें दृढ़ इच्छाशक्ति और कुछ कर गुजरने की चाहत है तो आप कोई भी मुकाम हासिल सकते हैं। ओप्पो भारत में ऐसे लोगों तक लिए उनके साथ सहयोग कर रहा है। मीडिया रिपोर्ट में आए बयान के अनुसार धोनी ने कहा कि मैं एक परियोजना का हिस्सा बनने के लिए काफी उत्साहित हूं जिसका उद्देश्य लोगों को अपनी सीमाओं को धक्का देने और उनके जुनून का पालन करने के लिए प्रेरित करना है।

भारत में शुरू हो सकता है सचिन की तरह विरोध
जहां एक ओर महेंद्र सिंह धोनी चीनी कंपनी के साथ मिलकर युवाओं को उनके सपने पूरा करने की ओर आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर देश में चीनी कोलैबरेशन के लिए उनका विरोध भी हो सकता हैै। गलवान मुठभेड़ के बाद दोनों देशों के बीच रिश्ते काफी तल्ख हो गए हैं। यहां तक देश के लोगों ने क्रिकेट भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर तक को नहीं छोड़ा है। सचिन तेंदुलकर ने हाल ही में पेटीएम फस्र्ट गेम्स का ब्रांड एंबेस्डर बनना स्वीकार किया है। जिसके बाद व्यापारिक संगठन कैट की ओर से विरोध शुरू हो गया है। कैट का कहना है कि पेटीएम चीनी कंपनी की फंडिंग पर संचालित है। ऐसे में सचिन को इस कंपनी के साथ नहीं जुडऩा चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.