Reliance Future Retail Deal : सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे पर Amazon, डील रोकने की मांग

हाईकोर्ट ने Reliance Future Retail Deal को आगे बढ़ाने की परमीशन दी थी। अमजेन द्वारा सुप्रीम कोर्ट में डरली याचिका में कहा है कि हाई कोर्ट का 22 मार्च का आदेश को अवैध और अनुचित करार देने की मांग की है।

By: Saurabh Sharma

Updated: 15 Apr 2021, 03:22 PM IST

नई दिल्ली। Reliance Future Retail Deal के खिलाफ अब अमेजन ने सुप्रीम कोर्ट की ओर रुख कर लिया है। दिों दिन लंबे खिंचते मामले को देखते हुए अमेजन ने सुप्रीम कोर्ट से हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील की हैै। आपको बता दें कि हाईकोर्ट ने Reliance Future Retail Deal को आगे बढ़ाने की परमीशन दी थी। अमजेन द्वारा सुप्रीम कोर्ट में डरली याचिका में कहा है कि हाई कोर्ट का 22 मार्च का आदेश को अवैध और अनुचित करार देने की मांग की है। अमेजन ने सुप्रीम कोर्ट से अपूरणीय नुकसान से बचने के लिए हाई कोर्ट के आदेश पर रोक लगाने की मांग भी की है।

यह भी पढ़ेंः- आम लोगों पर टूटा कहर, 8 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंची थोक महंगाई

कंपनी को मिली स्लिप
फ्यूचर रिटेल की ओर से शेयर बाजार को दी गई जानकारी के अनुसार कंपनी के वकील को 13 अप्रैल 2021 के एक कम्युनिकेशन की स्लिप मिली है। यह अमेजन डॉट कॉम के वकीलों की ओर से भेजा गया है। स्लिप के अनुसार अमेजन के वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट में एक स्पेशल लीव पिटीशन दायर की है। जिसमें 22 मार्च 2021 के दिल्ली हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच के फैसले को चुनौती दी गई है। आपको बता दें कि 22 मार्च दिल्ली हाई कोर्ट की डिवीजन बेंच की ओर से 24,713 करोड़ रुपए के Reliance Future Retail Deal पर सिंगल जज द्वारा लगाई रोक को हटाकर बढ़ाने का फैसला सुनाया था।

यह भी पढ़ेंः- Infosys Share Buyback: एक शेयर पर मिलेगा 350 रुपए मुनाफा कमाने का मौका

49 फीसदी खरीदी थी हिस्सेदारी
अगस्त 2019 में अमेजन ने फ्यूचर कूपंस में 49 फीसदी की पार्टनरशिप ली थी। जिसके लिए अमेजन की ओर 1500 करोड़ रुपए का भुगतान किया था। इस सौदे में कुछ शर्तें भी रखी गई थी। अमेजन को तीन से 10 साल की अवधि के बाद फ्यूचर रिटेल लिमिटेड की हिस्सेदारी खरीदने का अधिकार होगा। Reliance Future Retail Deal अगस्त में 24,713 करोड़ रुपए में हुई थी। इस डील को सीसीआई, सेबी तथा शेयर बाजार से पहले ही मंजूरी मिल चुकी है।

Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned