बेहतर डिलिवरी के दम पर ई-कॉमर्स बाजार पर छाने की तैयारी में रिलायंस, मुकेश अंबानी ने किया खुलासा

ई-कॉमर्स सेक्टर में छाने के लिए सामानों को आखिरी पायदान के लोगों तक पहुंचाने के लिए एक खास स्ट्रेटजी बनाई है।

July, 1002:05 PM

नई दिल्ली। ई-कॉमर्स सेक्टर में उतरने की तैयारी कर रहे मुकेश अंबानी के रिलायंस ग्रुप ने बाजार में छाने की पूरी तैयारी कर ली है। देश में ई-कॉमर्स सेक्टर की दिग्गज कंपनियों अमेजन और फ्लिपकार्ट को मात देने के लिए रिलायंस ने एक विस्तृत योजना बनाई है। खबरों के अनुसार रिलायंस ने ई-कॉमर्स सेक्टर में छाने के लिए सामानों को आखिरी पायदान के लोगों तक पहुंचाने के लिए एक खास स्ट्रेटजी बनाई है। इसी स्ट्रेटजी के दम पर रिलायंस ने अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों को पटखनी देने की योजना बनाई है। एक सूत्र के अनुसार ई-कॉमर्स सेक्टर में उतरने पर रिलायंस का फोकस लास्ट माइल डिलिवरी (आखिरी व्यक्ति तक सामान की डिलिवरी) और ग्राहक संतुष्टि पर फोकस रहेगा।

रिलायंस खड़ी करेगा अपनी सप्लाई चेन

आखिरी व्यक्ति तक सामान पहुंचाने और ग्राहकों की संतुष्टि के लिए रिलायंस की योजना अपनी सप्लाई चेन खड़ी करने की है। इसके लिए रिलायंस भारी भरकम रकम खर्च करेगी। इसके अलावा टाइम डिलिवरी के लिए रिलायंस दूसरी कंपनियों की मदद भी लेगी। इसके पीछे रिलायंस का मकसद डिलिवरी और ग्राहक संतुष्टि के मामले में अव्वल रहना है। सूत्र का कहना है कि हर ग्राहक तक सही और तेजी से सामान पहुंचाने पर कंपनी का पूरा ध्यान है। इसके लिए विशेष योजना बनाई जा रही है। कंपनी चाहती है कि सामान की बुकिंग से लेकर उसकी डिलिवरी तक कोई गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए।

लाखों लोगों को मिलेगा रोजगार

रिलायंस ग्रुप की ओर से शुरू किए जा रहे इस ई-कॉमर्स कारोबार में स्वतंत्र विक्रेताओं को भी जगह मिलेगी। इसके अलावा रिलायंस के सभी खुदरा कारोबारियों को भी इस प्लेटफॉर्म से जोड़ा जाएगा। इसमें रिलायंस के ग्रॉसरी, फैशन, ज्वेलरी और इलेक्ट्रॉनिक्स आदि रिटेल बिजनस शामिल हैं। सूत्र के अनुसार, रिलायंस के ई-कॉमर्स सेक्टर में उतरने के कदम से लाखों लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। सूत्र के अनुसार ई-कॉमर्स सेक्टर में उतरने के लिए रिलायंस ने 7500 पूरे देश में आउटलेट्स खोलने के लिए गोदामों और सप्लाई चेन का नेटवर्क तैयार कर लिया है। आपको बता दें कि रिलायंस ग्रुप के मुखिया मुकेश अंबानी ने 5 जुलाई को आयोजित कंपनी की एजीएम में शेयरधारकों के सामने ई-कॉमर्स सेक्टर में उतरने की योजना का खुलासा किया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned